उदयपुर. सोहराबुद्दीन एनकाउंटर मामले में मंगलवार को आईजी व उदयपुर के तत्कालीन एसपी दिनेश एम एन तथा गुजरात के पुलिस अधिकारी डीजी बंजारा को मुंबई कोर्ट ने बरी कर दिया। दोनों अधिकारियों ने न्यायालय में डिस्चार्ज एप्लीकेशन पेश की थी। अब तक कोर्ट राजस्थान के 6 आरोपी पुलिसकर्मियों में से कोर्ट सीआई अब्दुल रहमान, एस आई हिमांशु सिंह व श्याम सिंह डिस्चार्ज एप्लीकेशन को खारिज कर चुका है। मामले में एएसआई नारायण सिंह, कोंस्टेबल युद्धवीर व करतार के मामले में सुनवाई लम्बित है।

मुंबई कोर्ट से जैसे ही सूचना मिली एमएन के प्रशंसक झूम उठे और सोशल मीडिया पर जय हिंद तक लिख डाला। गौरतलब है कि मामले में सीबीआई ने बीजेपी नेता सहित गुजरात, राजस्थान, आंध्रा के आईपीएस सहित 35 लोगों को आरोपी बनाया था। कोर्ट मामले में सुनवाई कर अब तक एनकाउंटर में मुख्य भूमिका निभाने वाले अमित शाह, गुलाब चंद कटारिया, मार्बल व्यवसायी विमल पाटनी, गुजरात के तत्कालीन डीजीपी डीसी पांडे, वर्तमान डीजीपी गीता जौहरी, आंध्रा के आईजी सुब्रमण्यम, गुजरात के आईपीएस राजकुमार पंड्यन, ओपी माथुर, चूडाश्मा, डीवायएसपी नरेन्द्र अमीन, दो अन्य व्यवसायी अजय पटेल, यशपाल चूडाश्मा सहित राजस्थान के हेडकांस्टेबल दलपत सिंह को बरी कर चुकी है।


जिन तथ्यों के आधार पर कोर्ट ने 13 लोगों को बरी किया है, उन्हीं तथ्यों के अधार पर राजस्थान के निरीक्षक अब्दुल रहमान, एसआई हिमांशु सिंह और श्याम सिंह व दिनेश एमएन ने डिस्चार्ज एप्लीकेशन लगाई थी, इनमें से एमएन की स्वीकार हो गई जबकी अन्य की खारिज हो गई।

LEAVE A REPLY