हिरण मगरी थाना क्षेत्र में झामर कोटड़ा के धामदर गांव में बुधवार शाम ज्यादती का शिकार हुई चार साल की बच्ची ने आरोपी युवक को पहचान लिया। बाल कल्याण समिति (सीडब्ल्यूसी) के सामने कहा कि वह आंगन में खेल रही थी। झमकिया उसे मोबाइल में नए वीडियो दिखाने के बहाने मगरे पर ले गया, वहां पीटा भी। बच्ची शुरुआत में सहमी रही, लेकिन सदस्यों ने विश्वास में लिया और सहज होने जैसा माहौल दिया तो उसने हर सवाल का जवाब दिया। उसकी हर बात बयान के रूप में कलमबद्ध की गई है।

इधर बच्ची के साथ दुष्कर्म करने की घटना सामने आने के बाद उदयपुर वासियों ने सोशल मीडिया पर तरह तरह की प;ओसत और उदाहरण देकर आरोपी को फांसी की सजा देने की पेरवी की। लोगों में इस घटना को लेकर जोरदार आक्रोश है।

सीडब्ल्यूसी के सदस्य हरीश पालीवाल सहित अन्य ने बयान नोट किए और बच्ची को माता-पिता के सुपुर्द किया। साथ ही पुलिस को मामले में जल्द चालान पेश करने के लिए कहा। उधर, एसपी कुंवर राष्ट्रदीप भी कह चुके हैं कि इस मामले में जल्द चालान पेश किया जाएगा। हालांकि एफएसएल द्वारा लिए डीएनए सैंपल की रिपोर्ट आने में समय लगने का अंदेशा है।

सीडब्ल्यूसी ने पीड़ित प्रतिकर में सहायता राशि दिलाने के लिए भी बच्ची की तरफ से आवेदन किया। बता दें कि बुधवार को धामदर में झमक लाल उर्फ झमकिया आंगन में खेलती बच्ची को उठा ले गया था। उसे पहाड़ी पर ले जाकर दुष्कर्म किया। घटना के वक्त बच्ची की मां खेत पर काम करने गई थी, जबकि पिता शहर में था। पुलिस ने देर रात आरोपी को गिरफ्तार कर लिया था

LEAVE A REPLY