बांसवाड़ा नगर परिषद की सभापति मंजुबाला पुरोहित पद पर रहेंगी या हटेंगी, इसका फैसला 11 अगस्त को हो जाएगा। इस दिन गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया बांसवाड़ा आएंगे और भाजपा के पार्षदों से बात कर पर्ची के माध्यम से उनकी राय जानेंगे। इसके बाद वे पुरोहित के बारे में निर्णय करेंगे। पिछले एक महीने से सभापति के विरोध में खुली बगावत करने वाले भाजपा के 27 में से 26 पार्षदों ने गुरुवार को उदयपुर में कटारिया से मुलाकात की। करीब 20 मिनट चली इस बैठक में पार्षदों ने पुरोहित की कार्यशैली पर गंभीर सवाल उठाए और बताया कि उनको हटाए बिना विधानसभा चुनाव में जीत संभव नहीं हो सकेगी। इसके बाद कटारिया ने इनको आश्वास्त किया कि मुख्यमंत्री की सुराज यात्रा के बाद वे बांसवाड़ा आकर इस बारे में निर्णय करेंगे। सभी भाजपा पार्षदों की बात को पूरी तव्ज्जो दी जाएगी। वर्तमान में भाजपा के नगर परिषद में 27 पार्षद है। इनमें सभापति को छोड़ कर उपसभापति महावीर बोहरा सहित सभी 26 पार्षद पुरोहित को हटाने पर एकजुट है। जानकारी के अनुसार कटारिया ने पार्षदों को दो विकल्प दिए हैं। एक दूसरी महिला सभापति का नाम दो अथवा निर्णय पार्टी पर छोड़ दो। कटारिया के मुताबिक सभापति सामान्य सीट से ही होगी। ऐसे में मंजुबाला के स्थान पर वार्ड 8 की भाजपा पार्षद वैशाली शर्मा सभापति की दौड़ में सबसे आगे हैं। अधिकतर पार्षद भी इनके समर्थन में है। शर्मा शहर विधायक और पंचायत राज्य मंत्री धनसिंह रावत की विश्वस्त समर्थक मानी जाती है। उल्लेखनीय है कि सभापति का विरोध करने वाले पार्षद दो बार रावत से मिलकर हटाने की मांग कर चुके हैं। लेकिन अब तक उनको केवल आश्वासन ही मिले है। इसके चलते इनमें आक्रोश भी है। इसी बीच यह मामला भाजपा प्रदेशााध्यक्ष मदनलाल सैनी तक भी पहुंच गया और उन्होंने गुरुवार को उदयपुर में पार्षदों से बात करने की बात कही थी। इसके चलते सभी 26 पार्षद दोपहर एक बजे उदयपुर पहुंच गए। हालांकि सैनी से इनकी मुलाकात नहीं हो सकी लेकिन कटारिया से इनकी मुलाकात हुई। पार्षदों ने बताया कि सभापति के रहते शहर में विकास का काम ठप हो चुका है। किसी भी पार्षद के वार्ड में कोई काम तक नहीं हुआ। ऐसे में वार्ड के लोगों का गुस्सा पार्षदों को झेलना पड़ रहा है। तीन माह बाद विधानसभा चुनाव है, ऐसे में किस मुंह से लोगों के पास वोट मांगने जाएंगे। पार्षदों के सामूहिक विरोध को देखते हुए कटारिया ने 11 अगस्त को मामले पर निर्णय करने का आश्वासन दिया।
कटारिया ने कहा
बांसवाड़ा में 6-7 को आ सकती हैं मुख्यमंत्री
उदयपुर में भाजपा की संभागीय स्तरीय बैठक थी। इसमें जिले के मंत्री, विधायक भी शामिल हुए। मुख्यमंत्री की सुराज यात्रा चार अगस्त से चारभुजा से शुरू होगी। इसके 6 और 7 अगस्त को बांसवाड़ा आने की संभावना है। ऐसे में सभापति के बारे में अंतिम निर्णय को एकबारगी उनके दौरे तक टाला गया है। विरोधी पार्षदों का नेतृत्व कर रहे उपसभापति महावीर बोहरा ने बताया कि कटारिया को पूरे मामले की जानकारी दे दी है। फिलहाल हमारा ध्यान मुख्यमंत्री के दौरे पर है। हम उनके स्वागत के लिए पूरी तैयारी करेंगे।

LEAVE A REPLY