Udaipur Post. बीकानेर में मंगलवार को एक व्यक्ति ने अपनी ससुराल में पत्नी पर चाकू से ताबड़तोड़ वार कर उसे गंभीर घायल कर दिया। बाद में उसने खुद के पेट में भी चाकू घोंप कर आत्महत्या करने की कोशिश की। यह वारदात बीकानेर जिले के श्रीडूंगरगढ़ के कालूबास में मंगलवार शाम करीब साढ़े चार बजे घटी। अचानक हुए घटनाक्रम से घर के लोग कुछ समझ ही नहीं पाए। बाद में परिजन दोनों घायलों को स्थानीय चिकित्सालय लेकर गए, जहां उन्हें पीबीएम के ट्रोमा सेंटर रेफर कर दिया। श्रीडूंगरगढ़ सीआइ प्रदीपङ्क्षसह चारण ने बताया कि बीकानेर के गोगागेट निवासी संतोष पुत्र शंकर गिरी मंगलवार को श्रीडूंगरगढ़ के कालू बास अपनी ससुराल पत्नी संतोष देवी को लेने आया था। इस दौरान दोनों में कहासुनी हो गई और झगड़ा बढ़ गया। तभी संतोष ने घर में सब्जी काटने वाले चाकू से पत्नी पर ताबड़तोड़ वार कर दिए। बाद में खुद भी घटना से घबरा गया और खुद को भी चाकू मार लिया।
पहले सरकारी अस्पताल
सीआइ ने कहा कि महिला की हालत गंभीर है। वारदात की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर गई, लेकिन तब तक परिजन दोनों को श्रीडंंूगरगढ़ के सरकारी अस्पताल ले गए। हालत नाजुक होने पर दोनों को पीबीएम के ट्रोमा सेंटर रेफर कर दिया। तब श्रीडूंगरगढ़ थाने से एएसआई यहां पहुंचे। उन्होंने महिला के बयान लेने की कोशिश की, लेकिन वह बयान नहीं दे पाई।
बेटी व मां के रोने पर पहुंचे लोग
पुलिस के मुताबिक घटना के समय संतोष देवी की १५ वर्षीय बेटी और उसकी मां मौजूद थी। चाकू के वार जब संतोष निढाल होकर आंगन में गिर पड़ी तो वे बुरी तरह घबरा गई और जोर-जोर से रोने लगी। शोर-शराबा सुनकर आस-पास के लोग वहां पहुचे। पड़ोसियों की सहायता से दोनों को अस्पताल ले गए और घर के पुरुषों व पुलिस को वारदात की सूचना दी।
बच्चे, महिलाएं थी घर पर
सीआइ चारण ने बताया कि संतोष देवी एक-डेढ़ महीने से पीहर में रह रही थी। दोनों के बीच काफी समय से मनमुटाव चल रहा था। दोनों की शादी को १९ साल हो गए हैं। उनके चार बच्चे हैं। वारदात के समय बच्चे और महिलाएं ही घर पर थी। संतोष ने पत्नी पर चाकू से वार किए तो घर में कोहराम मच गया।

LEAVE A REPLY