Photo- 1उदयपुर। महाराणा मेवाड़ चेरिटेबल फाउण्डेशन उदयपुर द्वारा जीवंत विरासत संरक्षण के क्षेत्र में किए जा रहे बहुआयामी कार्यों के तहत गुरूवार से नई दिल्ली के दो मेट्रो रेल स्टेशन पर मेवाड़ के तीन पीढिय़ों के शासकों के रंगीन चित्र प्रदर्शित किए गए है। गुरूवार शाम से शुरू हुई इस प्रदर्शनी के पूर्व महाराणा मेवाड़ चेरिटेबल फाउण्डेशन उदयपुर के न्यासी लक्ष्यराज सिंह मेवाड़ ने स्वयं इस प्रदर्शनी का अवलोकन किया। दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन एवं इंडिया हैबिटेट सेंटर के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित इस प्रर्दशनी का मुख्य उद्देश्य जीवंत विरासत के तहत कला एवं संस्कृति को बढ़ावा देना है।
महाराणा मेवाड़ चेरिटेबल फाउण्डेशन उदयपुर के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी भूपेन्द्र सिंह आउवा ने बताया कि फाउण्डेशन के अध्यक्ष एवं प्रबंध न्यासी श्रीजी अरविन्द सिंह मेवाड़ द्वारा जीवंत विरासत के क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों के तहत फाउण्डेशन ने दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन एवं इंडिया हैबिटेट सेंटर को इस संदर्भ में योजना प्रस्तावित की। उल्लेखनीय है कि अरविन्द सिंह मेवाड़ द्वारा स्थानीय सिटी पैलेस में बीते दिनों ‘दी कैमरा एट उदयपुर, 1857-1957’ के शीर्षक के तहत देश एवं विदेश के जाने माने फोटोग्राफर्स द्वारा मेवाड़ के विभिन्न शासकों एवं आयोजित अनेक कार्यक्रमों के 100 फोटोग्राफ प्रदर्शनी में लगाए गए है। प्रदर्शनी में महाराणा फतहसिंहजी का मोरचौक में लगा दरबार, मोहल्ला दरबार में बिराजे मेवाड़ी शूरवीर, लालकिले पर प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू, महाराणा भगवतसिंहजी, संजय, राजीव एवं इंदिरा गांधी का 15 अगस्त 1956 को खींचा फोटो, शाही वेश में महाराणा सज्जनसिंहजी, रावत भगतसिंहजी बेदला, चित्तौड़ में 1881 में लगा महाराणा सज्जनसिंह का दरबार, 1890 में सिटी पैलेस में लगे दरबार में बैठे प्रिंस अल्बर्ट विक्टर एवं महाराणा फतहसिंहजी अपने परिवार के साथ, 1930 में महाराणा भूपालसिंहजी अपनी गाड़ी रॉल्स रॉयल्स में तथा मेवाड़ राज्य के सेना से संबंधित फोटो प्रदर्शनी में लगाए गए है। इनका और अधिक प्रचार-प्रसार के लिए 20 चुनिंदा चित्रों के पोट्रेट दिल्ली के जोर बाग मेट्रो स्टेशन एवं मण्डी मेट्रो स्टेशन पर प्रदर्शित किए जाएंगे।
तीन माह तक चलने वाली इस प्रदर्शनी के प्रमुख इंडिया हैबिटेट सेंटर के निदेशक राकेश ककड़ ने बताया कि इंडिया हैबिटेट सेंटर के सदस्यों ने सिटी पैलेस उदयपुर में आयोजित इस म्यूजियम का अवलोकन किया है तथा गत दिनों इस प्रदर्शनी पर प्रकाशित की गई पुस्तक का भी लोकार्पण इंडिया हैबिटेट सेंटर कार्यालय में किया गया है। प्रदर्शनी में मेवाड़ के शासकों के बेहद ही रंगीन एवं हस्त निर्मित चित्रों की फोटोग्राफ मय हिन्दी एवं अंग्रेजी के केप्शन के साथ प्रदर्शित की गई है।
महाराणा मेवाड़ चेरिटेबल फाउण्डेशन उदयपुर के अध्यक्ष एवं प्रबंध न्यासी श्रीजी अरविन्द सिंह मेवाड़ ने बताया कि फाउण्उडेशन द्वारा जीवंत विरासत के क्षेत्र में मेवाड़ एवं राजस्थान के लिए किए जा रहे कार्यों के प्रचार-प्रसार के तहत इस योजना को हाथ में लिया गया है। जिससे दिल्ली मेट्रो रेल में सफर करने वाले यात्रियों को मनलुभावन एवं शिक्षाप्रद चित्रों से मेवाड़ के इतिहास की जानकारी मिले। उन्होंने इस प्रदर्शनी के लिए प्रदर्शनी के क्यूरेटर डॉ. अलका पाण्डे एवं इंडिया हैबिटेट सेंटर के निदेशक राकेश ककड़ को बधाई दी। यह प्रदर्शनी तीन माह तक चलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here