पोस्ट न्यूज़ . वागड़ क्षेत्र में डूंगरपुर शहर की मशहूर झील गेपसागर छलक गया . दस सालों में करीब 3 बार गेपसागर छलका है . इस बार एसा छलका कि पानी रिंगरोड को पार करते हुए झील के पास ही बनी शाश्त्री कोलोनी में घुस गया . झील के रिंग रोड पर भी २ से ४ फिट पानी भर गया .

बारिश और गेपसागर झील में बनी पानी की आवक से शुक्रवार शाम को ओटा छलक गया। इस पर करीब 6 इंच की चादर चलने लगी तो शहरवासियों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी। लोग सुबह होते ही गेपसागर के इस सुंदर नजारे को देखने के लिए पहुंच गए और दिनभर इसी तरह का हाल रहा। लेकिन गेपसागर का पानी रिंग रोड पर करीब 2 से 4 फीट तक भर गया।
शास्त्रीकॉलोनी का पूरा बगीचे में करीब 3 फीट तक पानी भर गया। शास्त्री कॉलोनी में ऑटे के पास निचले हिस्से में बने मकानों के आसपास पानी पहुंच गया तो लोग नाराज हो उठे और फिर रिंग रोड और बगीचे में भरे पानी को निकालने के लिए नाले के गेट को खोल दिया गया तो ओटा बहुत ही जोर से चलने लगा।
गेपसागर में तीजवड़ और बिलड़ी के नालों से पानी की आवक लगातार बनी हुई है। पिछले सप्ताहभर से गेपसागर झील का ओटा छलकने को आतुर था। शनिवार सुबह ओटे से करीब 6 इंच तक पानी चलने लगा। झील के लबालब होने से पानी ओटे से लेकर बादल महल और पूरे रिंगरोड पर गया।
गेपसागर झील लबालब होने से पहले ही शास्त्री कॉलोनी पार्क और इसके पास ही रिंगरोड पर पानी भरने लग गया था। लेकिन शनिवार को यहां पर करीब 3 से 4 फिट तक पानी भरा हुआ था। पूरा पार्क पानी से लबालब था। बच्चों के खेलने के झूले, फिसल पट्टी सब पानी में डूबे हुए थे। बगीचे में जाने की कहीं जगह तक नहीं थी। हर जगह पानी ही पानी भरा हुआ था। बगीचे की ऐसी हालत पिछले 15 दिनों से बनी हुई है, यहीं कारण है कि इन दिनों बच्चों के खेलने कूदने के लिए काम आने वाला बगीचा तालाब बनकर रह गया है।

LEAVE A REPLY