DSC_1213

उदयपुर। चार दिन की लगातार बारिश ने उदयपुर की झीलों की तस्वीर बदल दी, २४ घंटे में पिछोला लबालब हो कर छलक गया और फतहसागर में 10 फिट ऊपर पानी आगया जो अगले तीन दिनों में छलक जाएगा। उदयपुर के आसपास के नदी तालाब सब भर चुके है और लबालब हो कर छलकने की तैयारी में है।
42 साल बाद बुधवार को ऐसा संयोग बना कि पीछोला (स्वरूपसागर) 24 घंटे में ओवर फ्लो हो गया। 11 फीट कैपेसिटी वाली इस झील में एक दिन पहले 3.2 फीट पानी था। कैचमेंट में लगातार बारिश से सुबह नांदेश्वर चैनल में पानी उफनते हुए किनारे लांघने लगा। सीसारमा नदी भी पूरे वेग से बहने लगी। इसमें देवास-सेकंड (मादड़ी डैम) से भी पानी मिलता रहा। नतीजतन दूसरे ही दिन पौने 8 फीट पानी आते ही पीछोला आेवर फ्लो हो गया।

swrup sagar

 

DSC_1644

चेहरों पर ख़ुशी :
बारिश से परेशान लोगों के चेहरों पर उस वक़्त ख़ुशी छलक गयी जब सूना की पिछोला छलक गया जैसे जैसे खबर फैलती रही स्वरुप सागर लिंक चैनल फतहसागर और पिछोला किनारे शहर वासियों का मजमा बढ़ता रहा । इधर उदयसागर की ओर बढ़ा मदार आैर पीछोला का पानी अब उदयसागर के भरने की संभावना भी प्रबल हो गई है। छोटा मदार के बाद शाम को मदार बड़ा तालाब भी ओवरफ्लो होने से पानी चिकलवास पिकअप वियर की पाल को लांघकर आयड़ नदी की ओर बढ़ गया। चिकलवास पिकअप वियर से मदार नहर होते हुए फतहसागर में भी आवक बनी हुई है। इधर बुधवार शाम पीछोला ओवरफ्लो होने से इसका पानी भी गुमानिया नाला-आयड़ नदी होता हुआ उदयसागर की ओर बढ़ा।

20150730233333

उदयपुर के पहाड़ों से बहते झरने
उदयपुर के पहाड़ों से बहते झरने
बारिश ने बदली उदयपुर की फ़िज़ा
बारिश ने बदली उदयपुर की फ़िज़ा

f1

 

झाड़ोल नदी
झाड़ोल नदी

mansi wakal

 

कब कब छलका पिछोला :

1973 – 23 अगस्त
1975 – 26 सितंबर
1976 – 7 सितंबर
1977 – 11 सितंबर
1978 – 15 सितंबर
1980 – 12 अगस्त
1983 – 30 जुलाई
1984 – 18 अगस्त
1985 – 5 अक्टूबर
1989 – 26 अगस्त
1990- 8 अगस्त
1991 – 1 अगस्त
1992 – 3 अगस्त
1994 – 23 अगस्त
1996 – 15 सितंबर
2005 – 23 सितंबर
2006- 8 अगस्त
2010 – 9 सितंबर
2011 – 30 अगस्त
2012 – 8 सितंबर
2013 – 30 अगस्त
2014 – 9 सितंबर
2015 – 29 जुलाई

LEAVE A REPLY