photo 1 (1)उदयपुर, कुन्द कुन्द शाश्वत पारमार्थिक ट्रस्ट, उदयपुर द्वारा संचालित एवं संस्कारतीर्थ शाश्वत धाम स्थित देश का प्रथम जैन दर्शन कन्या महाविद्यालय का भव्य उद्घाटन सम्पन्न हुआ।
शाश्वत धाम के संयोजक अजीत जैन बड़ौदा ने बताया कि कार्यक्रम का शुभारंभ डॉ. जिनेन्द्र शास्त्री के शब्दों द्वारा स्वागत भाषण से हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अमृत भाई मेहता थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता अन्तराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त तार्किक विद्धान डॉ. हुकुम चन्द भारिल्ल थे। डॉ. भारिल्ल ने समाज को सम्बोधित करते हुए कहा कि संस्कृत व जैन दर्शन की शिक्षा एवं सेवा बालिकाएं ज्यादा बखूबी से कर सकती है। यह राजस्थान का ही नहीं अपितू भारत का भी गौरव केन्द्र साबित होगा। डॉ. भारिल्ल ने पत्र वाचन कर विधि विधान से कन्या महाविद्यालय का उद्घाटन किया। जहां आज विश्व में प्रत्येक देश अपनी अपनी भाषा के लिए पहचाने जाते है वहीं भारत में देवभाषा के रूप में जनजन तक पहूंचेगी।
कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि टोडरमल स्मारक के प्राचार्य पंडित रतनचन्द भारिल्ल, मुकेश जैन इन्दौर, महावीर पाटील महाराष्ट्र, कमला भारिल्ल, प्रेमचन्द बजाज कोटा, आईएस जैन मुम्बई, ट्रस्ट के अध्यक्ष ललित जैन कीकावत, कन्हैयालाल दलावत, भागचन्द कालिका, पियूष शास्त्री जयपुर, अंकित जैन लुणदा थे।
संस्थान की निदेशिका डॉ. ममता जैन ने बताया कि इस वर्ष 13 बालिकाए जो सम्पूर्ण भारत से अध्ययन हेतु आई है उनके रहने खाने की निःशुल्क व्यवस्था रहेगी। कार्यक्रम में जयपुर इन्दौर, कोटा, ब्यावर, एम,पी,, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल इत्यादि स्थानों से जन समुदाय उपस्थित हुआ।
कार्यक्रम का संचालन पंडित राजकुमार जैन दर्शनाचार्य ने किया। आभार डॉ. महावीर प्रसाद जैन ने किया।
इस अवसर पर डॉ. किरण जैन, राजकुमारी जैन दिल्ली, डॉ. सीमा जैन, पंडित गणतंत्र शास्त्री, निलय शास्त्री, वीरचंद शास्त्री, गजेन्द्र शास्त्री, तपिश शास्त्री, संदीप शास्त्री, राजकुमार भोरावत, पूजा शास्त्री, श्रुति शास्त्री जयपुर, रतन शास्त्री कोटा सहित कई विद्धान उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here