दुर्घटना रहित जोन विकसित करने हेेतु सड़क सुरक्षा हितधारकों की द्वितीय ब्लाॅक स्तरीय बैठक सम्पन

उदयपुर। हिन्दुस्तान जिंक लिमिटेड एवं राजस्थान सड़क सुरक्षा सोसायटी के संयुक्त तत्वाधान में चलाये जा रहे राजस्थान सड़क सुरक्षा शिक्षा एव जागृति के अन्तर्गत सड़क सुरक्षा पर हितधारकों की द्वितीय ब्लाॅक स्तरीय बैठक का आयोजन जिला विधिक सेवा प्राधिकरण उदयपुर के कार्यालय सभागार में सम्पन्न हुई। सड़क दुर्घटना रहित जोन बनाने के लिए सोसायटी द्वारा अपनाई जा रही स्ट्रेटजी में हितधारक विभागों/संस्थाओ के सहयोग के लिए आयोजित की गई। जिसमें पुलिस, परिवहन, यातायात पुलिस, सार्वजनिक निर्माण विभाग, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, बार एसोसिऐशन, ग्राम पंचायत प्रतिनिधि एवं हिन्दुस्तान जिंक सहित भारत सरकार के अधिकारियों ने भाग लिया।
भारत सरकार के तकनीकी सलाहकार सड़क सुरक्षा एवं प्रर्वतन, सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के वीरेन्द्र सिंह राठौड़ ने देश, राज्य व जिले का सड़क सुरक्षा का परिदृश्य अवगत करातें हुए। सभी हितधारकों को सड़क दुर्घटना कम करने की विभागवार कार्य योजना पर विस्तार से बतातें हुए भारत सरकार एव ं राज्य सरकार की सड ़क सुरक्षा से सम्बन्धित योजनाओं का उपयोग लेने की अपील की। बैठक को सम्बोधित करते हुए जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की अध्यक्ष सुश्री प्रभा शर्मा ने बताया की राज्य में सड़क दुर्घटनाऐं लगातार बढ़ रही है प्रतिदिन औसतन 28 लोग सड़क हादसों में मारे जा रहें हैं। मरनेवालों में अधिकांश युवा वर्ग से हैं। इनमें 60 प्रतिशत पैदल यात्री, बस यात्री साईकिल, मोटर साईकिल आदि पर चलने वाले हैं। ऐसे में आमजन को सुरक्षित आवागमन हेतु सड़क सुरक्षा उपायों की जानकारी देना अति आवश्यक हैं। स्वयं के वाहन से यात्रा करने वालों को यातायात के नियमों की पूर्ण जानकारी प्राप्त करने के बाद ही वाहन चलाना चाहिए एवं इन नियमों की पालना करनी चाहिए। उन्होंने सोसायटी एवं हिन्दुस्तान जिंक के संयुक्त प्रयासों से चलायें जा रहें मिशन एवं स्ट्रेटेजी की प्रशन्सा करते हुए उन्होंने बताया कि इसी के आधार पर अगर पूरे राज्य में मिशन चलेंतो दुर्घटनाओं में भारी कमी लाई जा सकती है।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के पूर्णकालिक सचिव श्रीमती रिद्धिमा शर्मा जी ने बताया कि राजस्थान सड़क सुरक्षा सोसायटी निचले स्तर तक कार्य कर रही है। उन्होंने सोसायटी को आश्वस्त किया कि हम आपका पूर्णरूप से सहयोग करेंगे।

हिन्दुस्तान जिंक सीएसआर हेड निलिमा खेतान जी ने फाईव एस संकल्पना पर चर्चा की। इस फाईव एस पर काम करने से सड़क दुर्घटना में होने वाली मौतों को कम किया जा सकता है।
डिप्टी सीएमएचओ डाॅ. राघवेन्द्र राय,पंचायत समिति गिर्वा प्रधान श्री तगत सिंह ने भी विचार व्यक्त कियें।
हिन्दुस्तान जिं़क के हेड कार्पोरेट कम्यूनिकेशन पवन कौशिक ने बताया कि बीसेफ कार्यक्रम के तहत् गामीण और शहरी क्षेत्रों में सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूकता और बिईंग सेफ प्रोजेक्ट के माध्यम अब तक करीब चार हजा़र से अधिक बच्चों और परिजनों को शोर्ट फिल्म, प्रजेन्टेशन और कहानी के माध्यम से स्वयं और परिवार को सुरक्षित रखने की जानकारी दी जा रही है। हिन्दुस्तान जिं़क के इस प्रोजेक्ट का उद्धेश्य सडक, घर या कार्यस्थल हर स्थान पर सुरक्षित रहने हेतु जागरूक करना है जिससे परिजनों और बच्चों के स्वयं के मन में सुरक्षा के लिये कटिबद्धता उत्पन्न हो।
बैठक में उपस्थित सभी ब्लॉक स्तरीय हितधारक विभागों के अधिकारियों एवं संस्थाओं के पदाधिकारियों ने सामूहिक रूप से प्रयास करने का आव्हान किया तथा राजस्थान सड़क सुरक्षा सोसायटी के सड़क सुरक्षा पर मीडिया कार्यशाला के लिए पुलिस की और से सहयोग देने का आश्वासन दिया गया। सड़क दुर्घटनाओं को रोकनें के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में 2 व्हीलर, टैक्टर ट्राली एवं साईकिलों एवं जानवरों के सिंगों पर रिपलेक्टिव टेप लगायें जाऐगें।

अन्त में हिन्दुस्तान जिंक लिमिटेड, देबारी के सी.एस.आर. बुद्धि प्रकाश पुष्करणा ने इस मिशन की सार्थकता पर विचार रखतें हुए सभी हितधारकों को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए। जनता से जुड़े हुए इस मुद्दे पर हिन्दुस्तान जिंक की और से हमेशा सहयोग देने का आश्वासन दिया तथा अपील की आप सब के सहयोग के बिना यह मिशन सफल नही हो सकता।

LEAVE A REPLY