दिल्ली से रांची आ रही 19 वर्षीय युवती के साथ झारखंड स्वर्ण जयंती एक्सप्रेस में दो युवकों ने गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया है। घटना से आहत युवती ने दो जहर खाकर खुदकुशी की कोशिश की है। पीड़िता फिलहाल अस्पताल में भर्ती है। शुक्रवार को जीआरपी थाने में इस संबंध में मामला दर्ज कर लिया गया है। सीएम रघुवर दास ने भी दोषियों पर सख्त कार्रवाई का आश्वासन दिया है।
सीएम बोले- दरिंदे बख्शे नहीं जाएंगे: झारखंड के सीएम रघुवर दास ने अपने ट्विटर पर लिखा है कि दिल्ली से रांची आ रही ट्रेन में एक बिटिया के साथ दरिंदगी की खबर से मन द्रवित है। बिटिया को हर मुमकिन मेडिकल सुविधा सरकार उपलब्ध कराएगी। दोषियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।
दिल्ली से रांची आ रही ट्रेन में एक बिटिया के साथ दरिंदगी की खबर से मन द्रवित है। बिटिया को हर मुमकिन मेडिकल सुविधा सरकार उपलब्ध कराएगी। दोषियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।
युवती ने बताया कि 6 फरवरी को दिल्ली के आनंद विहार से रांची जा रही थी। झारखंड स्वर्ण जयंती एक्सप्रेस में एस-3 कोच के 17 नंबर बर्थ पर वो बैठी थी। ट्रेन में काफी कम यात्री थे और उसकी बर्थ के पास अंधेरा भी था। ट्रेन मुरी रेलवे स्टेशन से रात करीब 12 बजे चली थी। उसी दौरान दो युवक आए और उसके मुंह पर कपड़ा रखकर चलती ट्रेन में दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया। किसी स्टेशन पर ट्रेन रुकते ही दोनों आरोपी फरार हो गए।
शर्म की वजह से की खुदकुशी की कोशिश
युवती ने बताया कि उसके कोच में न तो टीटीई था और न ही पुलिस। रांची स्टेशन पर जब ट्रेन रुकी तो वो वॉर्डन के साथ हॉस्टल चली गई। शर्म की वजह से उसने किसी को कुछ नहीं बताया। दो दिनों तक उसने इस वारदात का जिक्र किसी से नहीं किया और आठ फरवरी को जहर खाकर खुदकुशी की कोशिश की। जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया। उसके पिता और भाई 10 फरवरी को उससे मिलने आए लेकिन उनसे कुछ नहीं कहा। खुदकुशी की कोशिश की जानकारी मिलने पर जब पुलिस जब अस्ताल पहुंची तो युवती ने अपनी आपबीती बताई।

LEAVE A REPLY