BP10066508-large
चित्तौडगढ़़। क्षेत्रीय सांसद व केंद्रीय मंत्री डॉ. गिरिजा व्यास ने साफ कर दिया है कि वह अगला लोकसभा चुनाव चित्तौडगढ़़ से ही लड़ेगी। इस बारे में उनकी ओर से कोई संशय नहीं है। रविवार को यहां अपने निवास पर पत्रकार वार्ता में डॉ. गिरिजा ने आगे चलकर इसकी घोषणा की। विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की घोर पराजय के बाद उनके लोस चुनाव लडऩे में दिलचस्पी नहीं जताने या सीट बदलने की अटकलों पर विराम लगाते हुए गिरिजा ने कहा कि वैसे तो पार्टी प्रत्याशी का चयन निर्धारित प्रक्रिया व आलाकमान पर निर्भर है, पर वह दोबारा चित्तौड़ से ही चुनाव लडऩे को तैयार है। इसका कारण संसदीय क्षेत्र के सभी पार्टी कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों व जनप्रतिनिधियों के साथ आम लोगों की भावना है। वह कभी भी कोई चुनाव कार्यकर्ताओं या जनता की इच्छा के विरूद्ध नहीं लडऩा चाहती। कांग्रेस के विस चुनाव पराजय की निराशा से नहीं उबरने तथा भाजपा के मुकाबले संगठन स्तर पर खास तैयारी नहीं दिखने के सवाल पर गिरिजा व्यास ने कहा कि पार्टी का कार्यकर्ता तैयार है। कोई गुटबाजी नहीं है। चुनावी मुद्दे के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस के लिए हमेशा विकास और जन कल्याण ही अहम मुद्दा रहता है। इस बार भी इन दोनों मोर्चों पर हम कहीं पीछे नहीं है। यूपीए सरकार ने दस साल में जनता को कई महत्वपूर्ण अधिकार दिए। वैश्विक मंदी के बावजूद देश की अर्थव्यवस्था को पटरी से नीचे नहीं उतरने दिया। यही अपने आप में बड़ी उपलब्धि है। भाजपा के पास कोई मुद्दा नहीं है। सिवाय यह कि नरेंद्र मोदी को पीएम बनाना है। केवल एक व्यक्ति के नाम पर सरकार नहीं बनती। डॉ. गिरिजा ने कहा कि राज्य की पिछली अशोक गहलोत सरकार व केंद्र की यूपीए सरकार ने विकास व जन कल्याण के क्षेत्र में नए आयाम स्थापित किए। नई राज्य सरकार उन योजनाओं को बंद करना चाह रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here