उदयपुर। हिंदुस्तान जिंक द्वारा बिछड़ी गांव में हिंदुस्तान जिंक एवं बायफ संस्थान के संयुक्त तत्वाधान में समाधान परियोजना के तहत किसान सम्मेलन आयोजित किया गया। सम्मेलन में किसानों को संबोधित करते हुए देबारी के निदेशक लीलाधर पाटीदार ने कहा कि समय के साथ किसान पारंपरिक खेती को बदलें जिससे उनकी आमदनी में बढ़ोतरी हो सके। उन्होंने कहा कि किसान सब्जियों फलों की खेती करें जिससे उनकी आय बढ़ सके। कार्यक्रम में महाराणा भूपाल एग्रीकल्चर कॉलेज से आए वैज्ञानिक कपिला आमेटा ने किसानों से कहा की खेती के बारे में कोई भी कितना किसान को जानकारी दे दे लेकिन जब तक किसानों की भागीदारी नहीं होगी किसान आगे नहीं बढ़ पाएगा किसानों ने जो मानस बना रखा है गेहूं मक्का बोने का उसको समय के बदलाव के साथ बदल कर अन्य उत्पादनो की खेती करें, अधिक उत्पादन के लिए अच्छे बीज एवं जैविक खाद का उपयोग करें। कार्यक्रम में खेती में अच्छे कार्य करने वाले किसानों को कृषि उपकरण देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर देबारी स्मेल्टर के सीएसआर से अधिकारी शिव भगवान, बायफ संस्थान के संकुल प्रभारी रसिक भाई पटेल, डॉ नारायण लाल पटेल, कृषि पर्यवेक्षक प्रेमशंकर पालीवाल, सरपंच धर्मी बाई गमेती, चुन्नी लाल डांगी, भेरू लाल डांगी सहित 60 से अधिक किसान उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here