Udaipur Post . दिल्ली के रानी झांसी रोड पर अनाज मंडी के पास एक फैक्टरी में रविवार तड़के आग लग गयी। फैक्ट्री रिहाइश इलाके में थी और जब आग लगी उस वक़्त 64 लोग अंदर सोये हुए थे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ 64 में से अबतक 43 लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें से ज्यादातर की मौत दम घुटने से हुई है. एलएनजेपी अस्पताल में 53 लोगों को भर्ती किया गया था जिसमें से 34 लोगों की मौत हो गई है और लेडी हार्डिंग कॉलेज में 10 लोगों को भर्ती किया गया था जिसमें 9 लोगों की मौत हुई है और एक व्यक्ति को राम मनोलोहिया अस्पताल में भर्ती किया गया है. कारखाने में आज सुबह आग लग गई और समय कई मजदूर सो रहे थे. एलएएनजीपी अस्पताल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉक्टर किशोर सिंह ने बताया है कि उनके अस्पताल में 34 लोगों की मौत हुई और बाकी लोगों का इलाज चल रहा है. उन्होंने कहा ज्यादातर लोगों की मौत दम घुटने से हुई है और कुछ की हालत अभी स्थिर बताई जा रही है. उन्होंने कहा कि जो लोग भर्ती हैं उनके फेफड़े में धुआं गया होगा तो अभी उनकी हालत भी खराब हो सकती है. जिस समय यह घटना हुई, उस समय एक कमरे में 20-20 लोग सो रहे थे. हालांकि, दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंच गई थीं और 64 लोगों को बाहर निकाल लिया गया था. कई अन्य अस्पतालों में भी लोगों को भर्ती किया गया है. दमकल विभाग की टीम ने फैक्टरी के अंदर पहुंचकर लोगों को निकाला. अंधेरा होने के कारण इस राहत और बचाव कार्य में थोड़ी अड़चन भी आई. अब तक आग के कारणों का पता नहीं लग पाया है. घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर दुःख जताया है। राहुल गांधी ने भी ट्वीट के जरियों मृतकों के प्रति संवेदना प्रकट की है।

LEAVE A REPLY