उदयपुर. महिला सशक्तिरण और समानता के लिए हिन्दुस्तान जिंक के प्रयास अनुकरणीय है जिन्हें अन्य संस्थानों द्वारा भी अपनाना चाहिए। अपने साथ कार्य करने वाले कर्मचारियों के लिए स्वस्थ्य वातावरण बनाने के लिए हमें सामूहिक प्रयास करने चाहिए जिससे कार्यस्थल पर दक्षता से कार्य किया जा सके यह बात पुलिस महानिरीक्षक उदयपुर बिनिता ठाकुर ने हिन्दुस्तान जिंक में आयोजित अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस कार्यक्रम में कहीं। ठाकुर ने मुख्य अतिथि के रूप में हिन्दुस्तान जिंक प्रधान कार्यालय से ईकनेक्ट के माध्यम से 300 से अधिक महिला कर्मचारियों से अपने अनुभव साझा करते हुए कहा कि जिस क्षेत्र में वह कार्यरत है वह एक चुनौती भरा जरूर था लेकिन असंभव नहीं। सभी महिलाएं यदि दृढता से आगे बढे तो किसी भी क्षेत्र में सफलता हांसिल करना मुश्किल नहीं है। हिन्दुस्तान जिंक की इकाईयों से महिला कर्मचारियों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि वरिष्ठ अधिकारियों के साथ कार्य करने के लिए उम्र मायने नहीं रखती, आत्मविश्वास के साथ उनके सहयोग से किसी भी क्षेत्र में कार्य से उसमें उपलब्धि हांसिल की जा सकती हैं।
महिलाओं को आगे बढ़ाने एवं सशक्तिरण के लिए कई प्रकार के कानून है। किसी भी कंपनी के बोर्ड आॅफ डायरेक्टर में महिला प्रतिनिधि अनिवार्य है। हम जिस क्षेत्र में कार्य करते है उसके वातावरण का महत्वपूर्ण योगदान होता है यदि हम चाहे तो 8 घण्टें में अपने कार्य को पूरा किया जा सकता है, क्योकिं एक महिला बहुत सारी जिम्मेदारी एक साथ एक ही समय पर निभाती है उसका समय पर घर जाना भी जरूरी है। परिवार का सहयोग भी किसी भी महिला के करियर में बहुत महत्वपूर्ण है जिससे वह सभी जिम्मेदारियों को आसानी से निभा सकती है। उन्होंने इस अवसर पर हिन्दुस्तान जिं़क द्वारा वी सेफ एप और सेफ्टी किट को लांच करते हुए सराहना की एवं कहा कि इस नवाचार से पुलिस विभाग भी जुडे़गा।
इस अवसर पर हिन्दुस्तान जिं़क के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुनील दुग्गल ने कहा कि हिन्दुस्तान जिं़क महिलाओं को आगे बढ़ाने के लिए सदैव कटिबद्ध है, कंपनी में प्रत्येक क्षेत्र में महिलाओं को आगे बढ़ने के समान अवसर है जिसके लिए प्रत्येक कर्मचारी सहयोग और समानता प्रदान करता है। महिला कर्मचारियों से आव्हान करते हुए उन्होंने महत्वूर्ण पदों पर उनके योगदान के लिए स्वेच्छा से आगे आने और उन्हें स्वस्थ्य वातावरण और सहयोग हेतु विश्वास दिलाया।

हिन्दुस्तान जिं़क के उप मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरूण मिश्रा ने कहा कि कंपनी के महिला और पुरूष कर्मचारियों में समानता की भावना है जो कि मिलकर लक्ष्य को प्राप्त करने की ओर अग्रसर है। हमें गर्व है कि हिन्दुस्तान जिं़क में इकाईयों और प्रमुख पदों पर महिला कर्मचारी उच्च एवं मुख्य श्रेणी में कार्यरत है यदि हम सभी मिल कर प्रयास करें तो कुछ भी असंभव नही है।
इस मौके पर वेदांता बोर्ड आॅफ डायरेक्टर प्रिया अग्रवाल हैब्बर ने इस कार्यक्रम को अभूतपूर्व बताते हुए महिला कर्मचारियों की सुरक्षा के हित में लांच किये गये सेफ्टी एप के लिए बधाई दी एवं महिला सशक्तिरण के लिए महत्वपूर्ण कदम बताया।
हिन्दुस्तान जिं़क की चीफ ह्यूमन रिसोर्सेस आॅफिसर कविता सिंह ने कहा कि समानता हिंदुस्तान जिंक के डीएनए में है। अलग अलग कार्यानुभव और पृष्ठभूमि के साथ लोग जब एक साथ आते हैं तो टीम मिलकर जमीनी स्तर पर विचारों को विकसित कर सकती है। कार्यस्थल पर विविधता भी अनिवार्य है। हिन्दुस्तान जिं़क को पुरुषों और महिलाओं के समान प्रतिनिधित्व के लिए जाना जाता है। हमें गर्व है कि हिन्दुस्तान ंिजंक में वर्तमान में कर्मचारियों में 14 प्रतिशत डायवरसिटी है।
कार्यक्रम में हिन्दुस्तान जिं़क द्वारा लांच किये गये वीसेफ एप को डाउनलोड कर महिला कर्मचारियों द्वारा किसी भी आपात स्थिति में अपने निकटतम परिजन, कर्मचारी या मित्र से सहयोग के लिए 5 व्यक्तियों तक तुरंत मदद पहुंचाने के लिए मोबाईल में पेनिक बटन को दबाने या निर्धारित तरिके से हिलाने पर सायरन बजने की सुविधा सहित, लोकेशन और एमरजेंसी नंबरो तक फोन, मेल एवं मैसेज भी पहंुचेगा जिससे त्वरित गति से सहायता मिल सके। इस एप को पुलिस विभाग के महिला सुरक्षा एप से भी जोडा जाएगा।
साथ ही इस मौके पर लांच किए गये सेफ्टी किट को सभी महिला कर्मचारियों को पेपर स्पे्र, शाॅक देने वाली स्टनगन, आत्मरक्षा हेतु उपकरण कनकल, व्हीसल एवं एलईडी टार्च भी दिया गया।
इस मौके पर महिला डाॅ राजीन्दर कौर सग्गु द्वारा सभी कर्मचारियांे को स्तन कैंसर के लक्षण, बचाव एवं उपाय के बारें में जानकारी दी। कार्यक्रम में हिन्दुस्तान जिं़क की सभी इकाईयों की 50 से अधिक महिला कर्मचारियों को उनकी विषिष्ट उपलब्धियों के लिए सम्मानित किया गया।
महिला कर्मचारियों के साथ समानता और सशक्तिरण एवं इस वर्ष के अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के विषय आई एम जनरेशन इक्वेलिटीः रियलाइजिं़ग वूमेन्स राईट्स पर मुख्य वित्तीय अधिकारी स्वयं सौरव हेड एचएसई-राजेन्द्र सिंह आहुजा, हेड-आईटी चेतन त्रिवेदी, हिन्दुस्तान जिं़क की सभी इकाईयों के आईबीयू डायरेक्टर चंदेरिया स्मेल्टिंग काॅम्प्लेक्स-पंकज कुमार शर्मा, कायड़ माइन-संजय खटोड़, रामपुरा आगुचा-सुजल शाह, जावर माइन-बलवंत सिंह राठौड, राजपुरा दरीबा काॅम्प्लेक्स-प्रवीण जैन, देबारी स्मेल्टर से अनिल त्रिपाठी एवं पंतनगर मेटल्स से रविश कुमार ने अपने विचार साझा किये। कार्यक्रम का संचालन लीड कार्पोरेट कम्यूनिकेशन मैत्रेयी सांखला, हेड-एचआर दरीबा की रूही शेरवानी एवं सेफ्टी विभाग की हंसा व्यास ने किया।

LEAVE A REPLY