मासिक धर्म स्वास्थ्य और स्वच्छता महिलाओं और किशोरियों के स्वास्थ्य और सशक्तिकरण के लिए महत्वपूर्ण हैं। मासिक धर्म की स्वच्छता के प्रबंधन में उचित मासिक धर्म प्रथाओं के बारे में बालिकाओं और महिलाओं को संवेदनशील बनाना आवश्यक है। इस हेतु हिन्दुस्तान जिं़क के जीवन तरंग जिं़क के संग परियोजना के तहत् मासिक धर्म स्वास्थ्य और स्वच्छता को बढ़ाने के लिए मूक और बधिर किशोरियांे के लिए वर्चुअल जागरूकता सत्र आयोजित किया गया। सत्रं में 180 से अधिक बालिकाओं को सांकेतिक भाषा में लीना जैन ने महिला प्रजनन प्रणाली, मासिक धर्म, मासिक धर्म उत्पादों, सैनिटरी नैपकिन के उपयोग, सैनिटरी नैपकिन के निपटान, ओव्यूलेशन और मासिक धर्म स्वच्छता के बारे में शिक्षा प्रदान की। साथ ही मासिक धर्म के दौरान तीव्र दर्द के कुछ घरेलू उपचारों पर भी चर्चा की गयी। सत्र के दौरान किशोरियांे ने अपने मासिक धर्म के अनुभव और चुनौतियों के बारे में जानकारी साझा की । हिन्दुस्तान जिं़क द्वारा जीवन तरंग कार्यक्रम का संचालन  वर्ष 2017 में विशेषयोग्यजन व्यक्तियों को बेहतर शैक्षिक अवसर प्रदान करके उन्हें सशक्त बनाने और अंततः उन्हें अपने परिवार के योगदानकर्ता सदस्य में बदलने के उद्देश्य से किया जा रहा है। इस कार्यक्रम से लगभग 700 से अधिक दृष्टिहीन और मूक बधिर  बच्चों को बेहतर शिक्षा से जोडा गया है। जीवन तरंग जिं़क के संग कार्यक्रम इन विशेषयोग्यजन बच्चों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए हर तरह की सहायता के देने हेतु प्रयासरत है ताकि ये बच्चे अपने परिवार के योगदानकर्ता सदस्य बन सकें और सम्मानजनक जीवन जी सकें। हिन्दुस्तान जिं़क ने मूक बधिर लोगों के लिए साइन लैंग्वेज टेªनिंग का शुभारंभ करना तथा नेत्रहीनों को तकनाॅलोजी पर आधारित शिक्षा एवं इनकी शिक्षा को सुदृढ़ बनाने के लिए सराहनीय कदम उठाएं हैं।

Previous articleइंटर जिंक बास्केट बाॅल टूर्नामेंट में जावर की महिला और एसके माइन की पुरूष टीम विजेता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here