लुधियाना। शहर के इकबाल गंज इलाके के पैदा होते ही एक नवजात बच्चे को सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक के जरिए एक बार नहीं तीन तीन बार बेच दिया गया। पुलिस ने इस मामले में बच्चे के नाना, सौदेबाजी करने वाली नर्स समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर बच्चे को दिल्ली के अस्पताल से बरामद कर लिया है।
fb
नाना ने बच्चे को महज 45 हजार रुपए में नर्स को बेच दिया। नर्स ने इस बच्चे को 3 दिन अपने पास रखा और फिर इसे 3 लाख रुपए में कुछ दलालों के हवाले कर दिया।

दलालों ने सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट फेसबुक पर बच्चे की तस्वीर लगा दी और इसके जरिए उन्‍होंने दिल्ली में एक व्यापारी ग्राहक भी तलाशा और 8 लाख रुपए में सौदा कर लिया।

बच्चा बेचने की इस करतूत का खुलासा खुद बच्चे की मां ने किया। सत्यम अस्पताल में पैदा हुए इस मासूम बच्चे को एक दो बार नहीं बल्कि तीन-तीन बार बेचा और खरीदा गया।

ऐसे घटी घटना : शाहनाज गांव (जिला मेरठ, उत्तर प्रदेश) की निवासी नूरी का विवाह 3 दिसंबर 2011 को शहजाद के साथ हुआ था। वह पति के साथ छह माह रही। फिर उससे तलाक ले लिया। उस समय वह गर्भवती थी।

उसके बाद नूरी लुधियाना के टिब्बा रोड स्थित इकबाल गंज में अपने पिता फिरोज खान के साथ रहने लगी। उसे बीती 8 अप्रैल को यहां श्रृंगार सिनेमा के पास स्थित सत्यम अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया।

9 अप्रैल को उसने लड़के को जन्म दिया। बच्चे को जन्म दिया तो नूरी के पिता फिरोज खान (बच्चे का नाना), उसके दोस्त इरफान, नर्स सुनीता व अस्पताल कर्मी गुरप्रीत ने नूरी को बताया किबच्चा बीमार था और उसकी मौत हो गई।

इस पर नूरी ने उपचार के लिए आए डॉक्टर व दूसरी नर्स से पूछा कि मेरे बच्चे की मौत कैसे हुए है तो उन्होंने कहा आपका बच्चा तो ठीक है। नूरी ने यह सुनकर शोर मचाया। बाद में पोल खुलने पर नूरी के पिता ने बच्चा नूरी को सौंप दिया और चुपचाप घर आ गए।

फेसबुक पर बच्चे को बेचने का यह शायद पहला मामला सामने आया है। पुलिस अभी आरोपियों से पूछताछ कर जानने की कोशिश कर रही है कि इस गिरोह में और कितने लोग शामिल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here