Headlines :-

खबर 1 – अंतरराज्यीय लूट और चोर गिरोह का खुलासातीन आरोपी गिरफ्तार

खबर 2 – मेडिकल काॅलेज में कार्यरत नर्सेज का बकाया वेतन दिलाने की मांगज्ञापन

खबर 3 – दानपुर में व्यापारी की दुकान से गेहूं सोयाबीन और 14 हजार नकदी चोरी

खबर 41996 के उपचुनाव में भाजपा की सेंधमारी तो कांग्रेस ने एक सदस्य तोड़कर बनाया अपना जिला प्रमुख

खबर 5 गैस सिलेंडर बुकिंग के लिए आदिवासी इलाकों में नियम बन सकता है लोगों को लिए आफत

………………………………………………………………………………………………………………………….

खबर 1 – अंतरराज्यीय लूट और चोर गिरोह का खुलासातीन आरोपी गिरफ्तार

Udaipur. कोतवाली पुलिस ने अंतरराज्जीय लूट व चोर गिरोह का पर्दाफाश करते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस को इनकी बलवाडा फाटक के पास एक युवक से हुई लूट के मामले में तलाश थी। आरोपियों से दो बाइक, चार स्मार्टफोन व एक कीपेड मोबाइल फोन बरामद किया है। पुलिस अधीक्षक कालूराम रावत ने बताया कि उदयपुर जिले के पहाड़ा थाना क्षेत्र के कनबई निवासी आरोपी सागर पुत्र कांतिलाल मीणा, सुनील पुत्र खातु बरंडा, खेरवाड़ा थाना क्षेत्र के मीठी महुड़ी फला निवासी यकीन पुत्र नारायणलाल पारगी को कनबई गांव के जंगलों में दबिश देकर गिरफ्तार किया। मीठी महुड़ी निवासी महेंद्र पुत्र ज्ञानदत्त भगोरा की तलाश जारी है। आरोपी एक दर्जन से अधिक वारदात कर चुके हैं। डीएसपी मनोज सामरिया के नेतृत्व में थानाधिकारी दिलीपदान चारण, हैड कांस्टेबल धर्मेंद्र सिंह, शिशुपाल सिंह, कांस्टेबल आशीष, सोहनलाल, मगनलाल, अभिषेक, जितेंद्र, मनिंदर सिंह, अभिषेक व राहुल ने आरोपियों को पकड़ने में सफलता हासिल की। पुलिस ने आरोपियों को पकड़ने के लिए करीब चार से पांच किमी तक पीछा करके पकड़ा है। पुलिस ने चोरी व लूट के एक मोबाइल को सर्विलांस पर रखा था। इस दौरान पुलिस को इस नंबर की लोकेशन गुजरात में मिली। पुलिस ने उस व्यक्ति से पूछताछ की तो आरोपियों में से एक युवक ने यहां पर रखना बताया। इस पर पुलिस आरोपियों को ढूंढते हुए गांव तक पहुंची। पता चला कि आरोपी अपने गांव में नहीं रह कर जंगल में रहते हैैं। ऐसे में पुलिस ने आरोपियों को पकड़ने के लिए दबिश दी और तीन आरोपी हाथ लग पाए।

 

खबर 2 –  मेडिकल काॅलेज में कार्यरत नर्सेज का बकाया वेतन दिलाने की मांगज्ञापन

Udaipur. राजस्थान नर्सेज एसोसिएशन की ओर से गुरुवार काे कलेक्टर काे ज्ञापन साैंपकर मेडिकल काॅलेज में कार्यरत नर्सेज का बकाया वेतन दिलाने की मांग रखी।आरएनए अध्यक्ष बंशीलाल कटारा ने बताया मेडिकल काॅलेज नर्सेज का विगत दाे माह का वेतन बकाया है। जिससे नर्सेज की आर्थिक स्थिति खराब हाे रही है। लाेन एवं ऋण की किश्त का भुगतान करने में परेशानी आ रही है। उन्हाेंने बताया की आगामी सप्ताह दीपावली का पर्व है। एेसे में बगैर वेतनमान के चलते उन्हाें आर्थिक परेशानी का सामान करना पड़ रहा है। उन्हाेंने शीघ्र वेतनमान दिलाने की मांग रखी। इस अवसर पर ज्ञापन देने वालों में पुष्प त्रिवेदी, पंकज परमार, दिनेश वरहात, पुष्पेंद्रसिंह, बंशीलाल राेत, राजेश कटारा सहित कई सदस्य माैजूद थे।

 

खबर 3 – दानपुर में व्यापारी की दुकान से गेहूं सोयाबीन और 14 हजार नकदी चोरी

Udaipur. बांसवाडा में बुधवार रात को अनाज व्यापारी की दुकान में चोरों ने सेंध लगाकर अनाज और नकदी चुरा ली। चोरों ने सीसीटीवी कैमरे भी तोड़ दिए। व्यापारी जितेंद्र सुराणा ने बताया कि दानपुर घंटाली रोड के मानपुर में उसकी दुकान है। बुधवार शाम को दुकान पर सभी ताले लगाकर घर गया, जहां से रतलाम गया था। रात को साढ़े दस बजे वापस आकर मोबाइल चेक किया, जो दुकान के सीसीटीवी कैमरे से अटैच है तो उस समय उनकी दुकान खुली देखकर चौंक गया। तुरंत भाई के साथ दुकान गए, जिसे देखकर बदमाश भाग गए। दुकान के ताले और सीसीटीवी कैमरे टूटे थे, गल्ला खुला था। चोर गेहूं, सोयाबीन और 14 हजार रुपए की नकदी ले गए। अनाज खुला पड़ा था इसलिए यह अनुमान नहीं लगा पाए कि कितना अनाज चोरी हुआ है। व्यापारी ने दानपुर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। जबकि थानाधिकारी ने बताया कि चोरी की अभी तक कोई रिपोर्ट नहीं आई है।

 

खबर 4 – 1996 के उपचुनाव में भाजपा की सेंधमारी तो कांग्रेस ने एक सदस्य तोड़कर बनाया अपना जिला प्रमुख

Udaipur. डूंगरपुर जिला प्रमुख की सीट इस बार एसटी महिला वर्ग के लिए आरक्षित है। ऐसे में वर्ष 1959 से 2020 तक के राजनीतिक इतिहास को देखे तो सिर्फ एक बार महिला जिला प्रमुख के रूप में कांग्रेस से रतनदेवी भराड़ा ने कमान संभाली। अब दूसरी बार यहां महिला जिला प्रमुख कमान संभालेगी। इस बार कड़ा मुकाबला होने की संभावना जताई जा रही है। बीटीपी की तरफ से पहली बार उम्मीदवार उतार कर जोर आजमाइश की जाएगी।दरअसल, कांग्रेस के महेंद्र कुमार परमार के निधन पर छबीलाल पुरोहित ने कार्यवाहक के रूप में साढ़े पांच माह तक भाजपा से कार्यभार संभाला। इसके बाद वर्ष 2015 में पहली बार भाजपा का बोर्ड बना। माधवलाल वरहात जिला प्रमुख के रूप में चुने गए। बाकी के सालाें के आंकड़ों पर नजर डाले तो कांग्रेस का वर्ष 1959 से ही दबदबा रहा है। इस बार भाजपा अपनी दूसरी बार लगातार जीत करने की तैयारियों में जुटी हुई है। वहीं कांग्रेस अपने दबदबे को कायम करने में जुटी है। देखा जाए तो कुछ सालों तक जिला प्रमुख की सीट पर प्रशासक काल भी रहा है। वहीं करुणाशंकर पण्डया एक मात्र व्यक्ति थे जिन्होंने जिला प्रमुख की कमान दो बार संभाली। महेंद्र कुमार परमार के निधन के बाद वर्ष 1996 में जिला प्रमुख के उप चुनाव हुए है। इस चुनाव में कांग्रेस के पास 14 सीट व भाजपा के पास 13 सीट थी। ऐसे में साफ तौर पर कांग्रेस का बोर्ड बनना था। लेकिन भाजपा ने कांग्रेस के देवराम रोत को अपने पाले में ले लिया।इससे भाजपा मजबूत हो गई। कांग्रेस के लिए परेशानी खड़ी हो गई थी। इसके बाद कांग्रेस ने अपने समीकरण तैयार किए। उस समय जिला परिषद सदस्यों की बाड़ाबंदी की। भाजपा के शंकरलाल पारगी को कांग्रेस ने अपने पाले में लेकर वापस बहुमत कायम कर दिया। देवराम रोत के भाजपा में चले जाने से कांग्रेस कार्यकर्ता व पदाधिकारियों ने उसका खासा विरोध किया। अंतत: गोविंद आमलिया ही जिला प्रमुख के रूप में चुने गए। उस समय का उपचुनाव काफी चर्चित रहा था| वर्ष 1959 से 1996 तक के समय में सामान्य वर्ग के लोग जिला प्रमुख के चुनाव में उम्मीदवार हुए और विजयी हुए। इसके बाद आरक्षण की व्यवस्था के बाद जनजाति वर्ग से जनप्रतिनिधि को मौका मिलने लगा। 1996 के बाद से अब तक सात जिला प्रमुख जनजाति वर्ग से बने हैं। इसमें एक महिला जिला प्रमुख को कांग्रेस से टिकट मिला और विजयी रही।

 

खबर 5 – गैस सिलेंडर बुकिंग के लिए आदिवासी इलाकों में नियम बन सकता है लोगों को लिए आफत

Udaipur. जहां एक तरफ सरकारें डिजिटलीकरण के लिए आगे बढ़ रही है। दूसरी ओर अब भी आदिवासी क्षेत्रों में पूरी तरह से डिजिटलीकरण हो पानी मुश्किल है। अब पेट्रोलियम मंत्रालय की ओर से चल रही गैस बुकिंग करने में और पैसे भी ऑऩलाइन करने पर तैयारी चल रही है।कई जगहों पर सख्ती के साथ लागू भी कर दिया है। जिसको लेकर जिले में भी तैयारी चल रही है। जिसको लेकर गैस एजेंसियों को भी से लिए कंपनी लगातार दिशा निर्देश जारी किए जा रहे हैं। जो कुछ समय बाद बिना ऑऩलाइन पैसा जमा के बीना घरेलू गैस सिलेंडर बुक नहीं हो पाएगा। अब तक फोन पर गैस सिलेंडर बुक करवाने के लिए दो चार दिनों में गैस सिलेंडर की घर पर आपूर्ति हो जाती थी, लेकिन अब उपभोक्ताओं को बुकिंग के साथ ही गैस सिलेंडर की राशि भी ऑनलाइन जमा करवानी होगी। बिना ऑनलाइन राशि जमा कराये, बिना अधिक दिन तक अब सिलेंडर नहीं मिल पाएंगे।आदिवासी इलाकों में ऐसा हो पाना असंभव : हालांकि इस प्रकिया से डिजिटल असाक्षर या उम्रदराज, के साथ लोगों का साक्षर नहीं होना इसके लिए सबसे बड़ी बाधा है। जिले में कुल 2 लाख 92 हजार 475 गैस कनेक्शन है। जिसमें 2 लाख 39 हजार 40 गैस कनेक्शन उज्जवला योजना के हैं, लेकिन आदिवासी आंचल के चलते यहां करीब 75 से 80 प्रतिशत कनेक्शन गांवों में जहां लोग केवल नकद पैसे देकर ही अपनी बुकिंग करवाते हैं। लेकिन अाेटीपी और पैसा भी ऑऩलाइन जमा करना मुश्किल है। गैस एजेंसियों की माने तो शहर के लोग भी अभी तक ऑऩलाइन पैसे जमा नहीं करवा पा रहे हैं। कंपनी की ओर से दिए जाने वाले टार्गेट को भी पूरा करना मुश्किल हो रहा है।ऑनलाइन पैसे जमा करने की पीछे क्या मकसद : विभाग की माने तो गैस सिलेंडर की बुकिंग में हो रही कालाबाजारी को रोकने के लिए पेट्रोलियम मंत्राालय इस तरह की योजना तैयारी की है। जिसके चलते जिस भी उपभोक्ता को गैस सिलेंडर बुक करना होगा तो ऑऩलाइन पैसा जमा हो जाए। जिससे गैस एजेंसियां भी मनमर्जी के दाम नहीं वसूल पाएगी। ऑऩलाइन कैश जमा होने से पूरा रिकॉर्ड भी ऑऩलाइन रह पाएगा।

____________________________________________________________________

Watch Full Video On YouTube – https://youtu.be/nFS9UYBh93c

Subscribe Our Channel – https://www.youtube.com/channel/UC13eeUsfNS-BfFgLLZzPHJw?view_as=subscriber

Like Our FaceBook Page (Udaipur Post) – https://www.facebook.com/UdaipurPost

                                         (CBC Wire )      –https://www.facebook.com/cbcnewswire

Follow Us On Instagram (Udaipur Post) –https://www.instagram.com/udaipurpost/

                                         (CBC Wire )      – https://www.instagram.com/cbcwire/

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here