पोस्ट। उदयपुर के कुराबड़ कस्बे में शनिवार को जनसैलाब देखकर क्षेत्र के कई सियासतदार भौंचके रह गए। इसके साथ ही वल्लभनगर में सबको पटखनी देकर जीत का परचम लहराने वाली जनता सेना ने अगले विधानसभा चुनावों का शंखनाद भी यहीं से कर लिया है। इस महासम्मेलन में दस हजार से ज्यादा लोगों के शिरकत करने का अनुमान लगाया जा रहा है। जीहां इस सम्मेलन के साथ ही जनता सेना के सुप्रीमों ने साफ किया की जो कार्यकर्ता कहेंगे वह करने को तैयार है। आपको बतादे कि गत दिनों भीण्डर पालिका में बगावत करने वालों को अल्टीमेटम देने के दौरान महाराज ने कहा था कि अब वह चुनाव नहीं लडेंगे। लेकिन शनिवार को कार्यकर्ताओं का जोश देखकर माना जा रहा है कि जनता सेना इस बार जिले की सभी विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ सकती है। जनता से मिले अपार समर्थन के बाद श्री भीण्डर ने सियासी दाव खेलते हुए कुराबड़ को भी तहसील का दर्जा होने की मंषा जाहिर की तो वहां मौजूद सैंकड़ों लोगों ने तालियों से इस मंषा का स्वागत किया। इससे पूर्व भीण्डर ने अपने धूर विरोधी कटारिया पर कटाक्ष करते हुए कहा कि अगर वह चाहते तो कुराबड़ को कबसे पंचायत समिति का दर्जा मिल जाता और इस बार भी वसुंधरा जी की वजह से कुराबड़ को पंचायत समिति मिली है। महासम्मेलन में अन्य वक्ताओं ने भी अपने जोषीले उद्बोधन से साबित कर दिया िकइस बार जनता सेना पहले से भी ज्यादा जोष खरोष के साथ मैदान में उतरेगी और छल कपट करने वालों की जड़े उखाड़ देगी। इस मौके पर कांग्रेस समर्थित कुराबड़ सरपंच बालूराम अपने 100 सक्रिय कार्यकर्ताओं के साथ जनता सेना में जुड़ गए। मीडिया से बातचीत में साफ किया कि उनका रिष्ता सिर्फ उनके कार्यकर्ताओं से है। किसी भी नेता पर मेरा कोई ऐहसान नहीं है, भाजपा से टिकिट की बात तो दूर जुड़ने से पहले भी कार्यकर्ताओं की मंशा जाननी पड़ेगी।

LEAVE A REPLY