DSC_0568उदयपुर, सोहराबुद्दीन फर्जी एनकाउंटर मामले में सीबीआई द्वारा विधानसभा में प्रतिपक्ष नेता और शहर विधायक गुलाबचंद कटारिया तथा मार्बल उद्यमी विमल पाटनी को आरोपी बनाए जाने के विरोध में आज सुबह जैन समाज ने शहर में जोरदार जुलूस निकालकर कलेक्ट्री पर प्रदर्शन किया। इस दौरान जैन समाज के लोगों ने हाथों में नारे लिखी तख्तियां ले रखी थी। कलेक्ट्री पर प्रदर्शन के बाद जैन समाज के एक प्रतिनिधि मंडल ने कलेक्टर विकास एस. भाले को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा।

महावीर जैन परिषद और उदयपुर सकल जैन समाज के आह्वान पर जैन व्यापारी आज सुबह नौ से ११ बजे तक अपने अपने प्रतिष्ठान बंद रखकर और टाउनहॉल में एकत्र हुए। करीब १५ सौ लोग दस बजे जुलूस के रूप में टाउनहॉल से रवाना हुए, जो सूरजपोल, बापूबाजार, देहलीगेट होते हुए कलेक्ट्री पहुंचे। जुलूस का नेतृत्व महावीर जैन परिषद के राजकुमार फत्तावत, महापौर रजनी डांगी, पारस सिंघवी, दलपत सुराणा, नानालाल वया, राजकुमार फत्तावत आदि कर रहे थे। कलेक्ट्री के बाहर जैन समाज के लोगों ने जोरदार प्रदर्शन किया। इस दौरान वहां पर भारी पुलिस बल तैनात था। कलेक्ट्री के बाहर आयोजित सभा को महावीर जैन परिषद के राजकुमार फत्तावत ने संबोधित करते हुए कटारिया और पाटनी को इस मामले में फंसाए जाने पर पूरा जैन समाज व्यथित है। कहा कि कटारिया और पाटनी निर्दोष है। हमेशा जैन समाज को फंसाया जाता है। उन्होंने पूरे समाज को इस मुद्दे पर एक होने का आह्वान किया। फत्तावत ने कहा कि सीबीआई सरकार का तोता है, ये तो कोर्ट भी मान चुकी है। ऐसे में सीबीआई की कार्रवाई पर भरोसा नहीं किया जा सकता है। कांग्रेस सरकार सीबीआई के जरिये पाक-साफ दामन वाले नेताओं पर कीचड़ उछाल रही है। यह औछी मानसिकता है। इस प्रदर्शन में शहर के साथ ही आसपास के ग्रामीण इलाकों के जैन समाज के लोग भी शामिल हुए थे। अंत में महापौर ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया। किरणमल सावनसुखा द्वारा ज्ञापन वाचन किया गया और एक प्रतिनिधि मंडल ने कलेक्ट्री में जाकर कलेक्टर को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन सौंपने वालों में किरणमल सावनसुखा, कुलदीप नाहर, राजकुमार फत्तावत, नरेंद्र सिंघवी, देवेंद्र कुमार घाटिया, यशवंत आंचलिया, कल्याणमल पोखरना, आकाश वागरेचा, प्रमोर सामर, विनोद भोजावत, निर्मल फत्तावत आदि मौजूद थे। इसी प्रकार राजसमंद, चित्तौड़ और डूंगला में भी जैन समाज के लोगों ने प्रशासनिक अधिकारियों को ज्ञापन सौंपकर सीबीआई का मुकदमा वापस लेने की मांग की है।

DSC0758नसीराबाद में कटारिया

सुराज संकल्प के लिए शहर विधायक गुलाबचंद कटारिया आज सुबह रवाना हो गए । कटारिया आगामी दिनों में सुराज संकल्प यात्रा के साथ रहेंगे और वसुंधरा के साथ सभाओं को संबोधित करेंगे। आज नसीराबाद में सुराज संकल्प यात्रा को कटारिया ज्वाइन करेंगे और सभा को संबोधित करेंगे।महापौर रजनी डांगी की तबीयत आज काफी चुस्त दुरुस्त थी। वे जुलूस में माइक पर नारे भी लगा रही थी और जैन समाज की महिलाओं का नेतृत्व भी कर रही थी। हालांकि ये अलग बात है कि कल नगर निगम की बोर्ड बैठक इस बहाने स्थगित कर दी गई कि उनकी तबीयत काफी खराब है। विरोधी गुट के पार्षदों में यह विषय चर्चा में बना रहा कि महापौर की तबीयत एक दिन के लिए ही खराब हुई।

सिर्फ जैन समाज के कटारिया

गुलाबचंद कटारिया को मेवाड़ का नेता माना जाता है, लेकिन आज निकले जुलूस में सिर्फ जैन समाज के ही लोग शामिल हुए थे। अन्य किसी भी समाज या संगठन के लोग इस जुलूस में शामिल नहीं हुए। भाजपा के भी दूसरे समाज के लोगों ने भी इस कार्यक्रम से दूरी बनाकर रखी। इस मामले में कलेक्ट्री में प्रमोद सामर से जब मीडियाकर्मियों ने पूछा कि क्या गुलाब जी सिर्फ जैन समाज के ही नेता है, तो वो सकपका गए। उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं हैं। सभी समाजों को जोडऩे का प्रयास किया जा रहा है, लेकिन आज सिर्फ जैन समाज का ही कार्यक्रम था। इसलिए दूसरे समाज के लोग नहीं आए।

पैरों में तख्तियां

जुलूस निकालते समय जैन समाज के लोगों ने हाथों में नारे लिखी तख्तियां ले रखी थी और काफी जोश-खरोश के साथ नारे लगा रहे थे। क्रमैं अन्ना हूंञ्ज की तर्ज पर जुलूस के दौरान हाथों में ले रखी क्रतख्तियों पर मैं गुलाबचंद कटारिया हूंञ्ज भी लिख रखा था, लेकिन जब जुलूस और सभा खत्म हुई। उसके बाद ये तख्तियां वहीं पर फेंक दी गई, जो लोगों के पैरों तले आ रही थी।

LEAVE A REPLY