post news. देशके 45 लाख मूक-बधिरों की विभिन्न समस्याएं पीएम नरेंद्र मोदी को बताकर उनका हल कराने के उद्देश्य से केरल, त्रिचूर से निकले दो बाइकर्स समूह के चार मूक-बधिर सदस्य बुधवार को उदयपुर पहुंचे। उनका मेवाड़ डीफ सोसायटी के सदस्यों ने वेलकम किया। सोसायटी के सेक्रेट्री सूरजकुमार तेली ने बताया कि जुबीन, अली, अशरफ, मुबीन चारों सदस्य बोल नहीं सकते। केवल इशारों में ही एक दूसरे से बातें करते हैं। 17 दिसंबर को चारों सदस्य वहां से निकले थे। इनकी राइड का मिशन देश के मूकबधिरों की समस्या पीएम मोदी को बताकर उसका निस्तारण करवाना है। इनका मानना है कि आम व्यक्ति की तरह उनको भी कई काम होते हैं। उनकी बस एक ही कमी है कि वो बोल नहीं पाते। केवल इशारों से बातें कर समस्या बता पाते हैं। सरकारी ऑफिस हो या अस्पताल या फिर पुलिस स्टेशन, जहां भी जाते हैं, वहां कई परेशानियां आती हैं। कई प्रकार के अन्य सरकारी काम, लाइसेंस बनाने में व्यावहारिक समस्याएं आती हैं। साथ ही शिक्षा पूरी हो जाने के बाद जॉब मिलने में भी कई दिक्कतें आती हैं।
इशारों में की बातें, हंसते-खेलते हुआ वेलकम : चारोंसदस्य मंगलवार रात को उदयपुर पहुंचे। इस दौरान मेवाड़ डीफ सोसायटी के सदस्य जो खुद मूक-बधिर हैं, ने रातभर इशारों में बातें कीं। सोशल मीडिया पर समस्याएं भी बताईं। सुबह चेटक सर्कल के पास सभी सदस्यों को माला पहनाकर उनका वेलकम किया गया। इस दौरान समिति के अध्यक्ष पीयूष सनाढ्य, कोषाध्यक्ष कपिल जीनगर सहित कई लोग मौजूद थे।

LEAVE A REPLY