उदयपुर। जिस हत्यारे शम्भू ने राजसमन्द में बंगाली श्रमिक अफ्राजुल को सिर्फ अपने शौक़ और अपने अवैध सम्बन्ध छिपाने के लिए गेंती से मार कर ज़िंदा जला दिया वह हत्यारा अब जेल से वीडियो वायरल कर रहा है। इजराइल की तरह मुस्लिमों से लड़ने और प्रधानमंत्री मोदी का साथ देने जैसा ज्ञान दे रहा है। मानो एक महान कार्य कर वह जेल गया हो और जेल से अपने प्रवचन का वीडियो बना रहा हो। हालाँकि वीडियो देखने पर लगता है कि पुरे वीडियो में उसने जो कुछ भी कहा है वह उसको किसी ने पहले से लिख कर दिया है। जोधपुर जेल से इस आतंकी हत्यारे ने वीडियो वायरल कर सिर्फ जेल प्रशासन ही नहीं पूरी राज्य की सुरक्षा की धज्जियां उड़ा कर रख दी है।
आतंकी हत्यारे शम्भू नाथ ने जेल से जो वीडियो जारी किया है वह वीडियो कई सवाल खड़े कर रहा है। जेल और राज्य की सुरक्षा पर तो सवाल खड़े कर ही रहा है लेकिन जेल में उसने वीडियो में जो बातें कही दरअसल वह किसी कागज़ पर लिखी हुई स्क्रिप्ट पढ़ी है जिसका राइटर कोई और है। वीडियो में साफ़ दिख रहा है कि या आतंकी हत्यारा किसी और कि लिखी हुई स्क्रिप्ट पढ़ रहा है क्यूँ कि जो बातें उसने वीडियो में कही वह उसकी बुद्धि और समझ के सो कोस दूर है। एक बार तो मानो एसा लग रहा है जैसे वह भाजपा और प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी का प्रचार और हिंदुत्व के लिए उनका साथ देने की बात कर रहा है। देश और देशभक्ति की बातें करते हुए उसको अपने किये हुए पर कोई पछतावा भी नहीं जबकि पुलिस की चार्ज शिट में साबित हो गया है कि जिस लव जिहाद की बात कर उसने बंगाली श्रमिक को जलाया था दरअसल उस लड़की से खुद उसके अवैध सम्बन्ध थे और उसी के उजागर होने के डर से उसने बंगाली श्रमिक की ह्त्या करदी और अपने अवैध संबंधों को लव जिहाद का रूप देकर विडियो वायरल कर दिया।
अब जेल में बजाय पाबंदी के मानो वो चुनाव प्रचारक और महात्मा की भूमिका में आगया हो वीडियों में हत्यारा राजनैतिक और नैतिकता की बातें कर ज्ञान बाँट रहा है।
हत्यारे शंभूनाथ के एक वीडियो ने राजस्थान जेल प्रशासन की बीस करोड़ रुपए की पोल खोलकर रख दी है। दरअसल, शंभूनाथ का यह वीडियो जोधपुर जेल से वायरल होने की बात कही जा रही है। उसमें जेल की सलाखें भी साफ नजर आ रही हैं। एेसे में जेल प्रशासन और यहां लगे जैमर्स पर सवाल खड़े हो गए हैं।
ताजुब की बात तो यहाँ है कि जेल प्रशासन ने सेन्ट्रल जेलों में मोबाइल फोन के इस्तमाल को रोकने के लिए जैमर लगाए है और इसलिए इन्होने बीस करोड़ रूपये खर्च कर दिए है इसके बावजूद जेल से संचालित होने वाले ना तो अपराधियों के कॉल को रोक पा रहे है ना ही सोशल मीडिया की पोस्ट को।
हत्यारे शम्भू ने जो विडियो वायरल किया वह जोशपूर जेल से किया और एसा माना जाता है कि जोधपुर जेल दिल्ली की तिहाड़ जेल के बाद देश की दूसरी सबसे सुरक्षित जेल मानी जाती है।