पोस्ट न्यूज़ । बांसवाडा राजस्थान के गढ़ी थाना क्षेत्र के भगोरा मार्ग स्थित बोहरा एवं लखरा समाज के कब्रिस्तान के पीछे शुक्रवार की सुबह एक खेत में बबूल के पेड़ से फंदे से लटके हुए प्रेमी युगल के शव बरामद हुए। इससे पूरे इलाके में सनसनी फैल गई। मौके पर बड़ी संख्या में ग्रामीण एकत्रित हो गए। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस को मौके पर मिले एक फोल्डऱ से सुसाइड नोट बरामद होने के साथ कॉलेज छात्रा की अंक तालिका, चद्दर पानी एवं सफेद रंग के तरल पदार्थ से भरी हुई दो बोतलें व नमकीन के पैकेट्स बरामद हुए हैं। जो पुलिस के कब्जे में हैं। वहीं सूचना पर पहुंचे दोनों के परिजनों ने हत्या कर शवों को बबूल के पेड़ से लटकाने का आरोप लगाया है। इससे कुछ देर के लिए हादसा स्थल पर विवाद की स्थिति भी बनी। बाद में पुलिस की समझाइश के बाद दोनों के शवों को नीचे उतारा और पोस्टमार्टम के लिए बांसवाड़ा महात्मा गांधी चिकित्सालय लाया गया

गढ़ी थाना प्रभारी लाभुराम चौघरी ने बताया कि भगोरा मार्ग पर बबूल के पेड़ से शव लटके होने की जानकारी गुरुवार देर शाम को लगी थी। इस पर संबंधित चौकी प्रभारी लक्ष्मणसिंह की ओर से हादसा स्थल को काफी देर तक देखने के प्रयास किए, लेकिन उसको कोई सुराग नहीं लगा। इसके बाद अंधेरा होने की वजह से पुलिस वापस लौट गई। इसके बाद शुक्रवार सुबह फिर पुलिस तलाशी में जुटी तो मौके पर पहुंची। जहां बोहरा एवं लखारा समाज के कब्रिस्तान के पीछे खेत में बबुल के पेड़ से प्रेमी युगल के शव एक साथ लटके हुए बरामद हुए। इसकी जानकारी पर कुछ देर में ही पुलिस जाप्ता मौके पर पहुंच गया। इतने में ही मौके पर बड़ी संख्या में क्षेत्रवासी भी एकत्रित हो गए। पुलिस ने ग्रामीणों ने शिनाख्त के प्रयास भी करवाए, लेकिन सुराग नहीं लगा।

इसके बाद पुलिस ने मौके पर पड़े मिले एक फोल्डर को टटोला, जिसमें छात्रा की अंक तालिका के साथ एक नई कॉपी में सुसाईड नोट भी लिखा हुआ था, जिसमें स्वेच्छा से जहरीला पदार्थ का सेवन कर आत्महत्या करना लिखा था। इसके साथ ही अंक तालिका से छात्रा की शिनाख्त अड़ोर निवासी मीना पुत्री नानूलाल भगोरा के रूप में हुई। जबकि सुसाइड नोट पर लिखे मोबाइल नंबर के आधार पर युवक की पहचान लोहारियापाड़ा (भगोरा) निवासी किशन पुत्र दलजी कलासुआ के रूप में हुई। इसके बाद पुलिस ने दोनों के परिजनों को मौके पर बुलाया।

पुलिस के अनुसार युवक 25 वर्षीय किशन का विवाह दो वर्ष पूर्व हो चुका है। जबकि मीना अपनी बहन के घर बांसवाड़ा रह कर एक निजी महाविद्यालय में तृतीय वर्ष में अध्ययनरत थी। छात्रा के जीजाजी के अनुसार मीना गत शुक्रवार को ही घर से कॉलेज जाने निकली थी। वहीं किशन के परिजनों ने बताया कि वह रोजाना परतापुर में मजदूरी के लिए जाता था। जो पिछले पांच दिनों से घर वापस नही लौटा था। दोनों के शव शुक्रवार को एक साथ गले में फंदा ड़ाले हुए एक-दूसरे से लिपटे एवं हाथों में हाथ लिए हुए बरामद हुए हैं।

मौके पर पहुंचे दोनों के परिजन, रिश्तेदार एवं ग्रामीणों ने हत्या का अंदेशा व्यक्त किया। परिजनों ने बताया सुसाइड नोट पर दोनो में किसी के भी हस्ताक्षर नही है। परिजनों का यह भी कहना था कि यदि दोनों ने जहर पिया था तो पेड़ तक पहुंच कर लटकने की संभावना भी नहीं बनती है। फोल्डऱर में सुसाइड नोट के साथ युवती के जाति प्रमाण पत्र की छाया प्रति के टूकड़े मिले। जिस पर परिजनों का कहना है कि इसको फाडऩे की क्या जरुरत पड़ गई।

LEAVE A REPLY