उदयपुर। मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले में नाबालिग मासूम बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म के आरोपियों को फांसी की सजा को लेकर उदयपुर के 75 सामाजिक और राजनातिक संगथों ने जिला कलेक्ट्री पर जोरदार विरोध प्रदर्शन किया। राष्ट्रपति प्रधानमंत्री के नाम जिला कलक्टर को ज्ञापन देकर आरोपियों को फंसी की सज़ा की मांग की।
मंदसौर में मासूम बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म को लेकर लोगों में लगातार आक्रोश बढ़ता जारहा है। इसी आक्रोश के चलते उदयपुर के ७५ सामाजिक धार्मिक और राजनातिक संगठन सड़कों पर आगये। सभी संगठनों के साथ महिलाऐं बच्चे शामिल थे जिन्होंने आरोपियों को फांसी की सजा की तख्ती हाथ में पकडे हुए थी। जिला कलेक्ट्री पर जमा संगठनों की भीड़ ने जोरदार प्रदर्शन किया नारे बाजी की। इस मौके पर लोगों ने जिला कलेक्टर को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम का ज्ञापन भी सौंपा ।जिसमें इस घटना को अंजाम देने वाले व्यक्ति को फांसी की सजा देने की मांग की । प्रदर्शन करना आए लोगों का कहना है कि इस घटना ने पूरे देश को शर्मसार किया है । ऐसे में इस तरह की घृणित घटनाएं आगे ना हो उसको लेकर भी सरकार द्वारा उचित कदम उठाया जाए । संगठनों के पदाधिकारियों ने प्रधानमंत्री को दिए ज्ञापन में कहा कि तीसरी कक्षा की उस नन्ही छात्रा को वहशी हमले का शिकार बनाने वाले इरफान ओर आसिफ नामक आरोपी को शीघ्र फाँसी की सजा मिलनी चाहिए।विभत्स विवरण ओर हमलावर की दरिंदगी के बाद यह दण्ड बहुत ही कम लग रहा है।अतःलम्बी चौड़ी कानून व्यवस्था में सुधार कर शीघ्र न्याय दिलाने की व्यवस्था की जाए।जब भारत में विदेशी पर्यटकों के मुकदमो में महीने भर में फांसी की सजा होती है तो हमारे देश की नारियों के प्रकरणों में क्यों नही? उक्त मन्दसौर प्रकरण में भी शीघ्र ही आरोपियों को फांसी दी जाए आज देश मे प्रति मिनट बलात्कार की घटनाओं से बेटियां ओर माँ बाप असुरक्षित महसूस कर रहे है देश मे भय का माहौल है। ऐसे बुरे कृत्य करने वाले चाहे किसी भी धर्म के हो पर ऐसे व्यक्ति समाज ही नही राष्ट्रहित के भी खिलाफ है अतः राष्ट्रहित मे निणर्य लेते हुए ऐसे अपराधियो को फांसी की सजा दी जावे |विश्व के अन्य देशों में बलात्कार की सजाओ का अध्ययन करते हुए भारत में भी ऐसी कठोर सजाओ का प्रावधान शीघ्र करावे,साथ ही प्रत्येक जिला स्तर पर पोक्सो कोर्ट खोली जाए जहां नाबालिक बच्चो के साथ हो रहे अत्याचारों के विरुद्ध शीघ्र कार्यवाही हो सके ।

विरोध प्रदर्शन करने वाले संगठन

विश्व हिंदू परिषद उदयपुर,बजरंग दल उदयपुर,मेवाड़ जनशक्ति दल उदयपुर,राष्ट्रीय वीर गुजर महासभा उदयपुर,एकलिंग सेना उदयपुर,श्री राम सेना ( मेवाड़ उदयपुर ),बजरंग सेना मेवाड़ उदयपुर,ॐ बन्ना संस्थान उदयपुर,विप्र फाउंडेशन युवा मंच उदयपुर,विश्व ब्राह्मण संगठन उदयपुर,वन्देमातरम मेवाड़ उदयपुर,शहीद भगतसिंह ग्रुप उदयपुर,गुजर गौड़ समाज उदयपुर,राजस्थान नाथ समाज सेवा मण्डल (उदयपुर ),वन्दे मातरम युवा संगठन उदयपु,कच्चेली तेली समाज उदयपुर,नूपुर नारी सेवा संस्थान उदयपुर,अखिल भारत हिन्दू महासभा उदयपुर,चेटक सर्कल व्यापार मंडल उदयपुर,महादेव सेना उदयपुर,रामपुरा व्यापार संग उदयपुर,श्री चतुर्भुज हनुमान मंदिर व्यायाम शाला उदयपुर,हिन्दू भगवा सेना उदयपुर राजस्थान,सामान्य एकता मंच उदयपुर,रक्तदाता युवा वाहिनी उदयपुर,श्री कृष्ण गौ धाम कविता टीम उदयपुर,हिन्दू साम्राज्य उदयपुर,श्री त्रिवेदी मेवाड़ा ब्राह्मण समाज खड़क क्षेत्र जवास ( युवा प्रकोष्ठ,जय दाता युवा वाहिनी उदयपुर,माँ आशापुरा संगठन उदयपुर,राष्ट्रवादी युवा वाहिनी उदयपुर,महाराणा प्रताप सेना उदयपुर,राज राजेश्वर महादेव सेवा समिति टेकरी उदयपुर,भीलूराणा दल मेवाड़ उदयपुर,भील सेना मेवाड़ उदयपुर,शिव सेना उदयपुर,श्री धर्मराज क्लब काया उदयपुर,मेवाड़ नवयुवक मंडल 14 उदयपुर,अखिल भारतीय सर्व ब्राह्मण एकता परिषद उदयपुर,गडियादेवरा नवयुक मंडल उदयपुर,औदिच्य वेलफैर युथ फोरम उदयपुर,युवा ब्रह्मशक्ति मेवाड़ उदयपुर,राजस्थान नवनिर्माण सेना उदयपुर,सन्त टेरेसा स्कूल टीम बम्बोरा,हिन्दू महासेना टाइगर फोर्स उदयपुर,श्री राम बजरंग दल मेवाड़ उदयपुर,वसीटा धोबी समाज उदयपुर,श्री भैरोंसिंह शेखावत जागृति मंच, उदयपुर बी एड बेरोजगार संघ, जिला उदयपुर,रामपुरा नवयुवक मंडल उदयपुर,नारायणी सेना सेन समाज उदयपुर,सेन चेतना मंच उदयपुर,जन अधिकारी सेना उदयपुर,अंतराष्ट्रीय हिन्दू परिषद उदयपुर,राष्ट्रीय बजरंग दल उदयपुर,करणी सेना उदयपुर शामिल थे

LEAVE A REPLY