उदयपुर। मारवाड़ी युवा मंच द्वारा राष्ट्रीय केंसर जागरूकता दिवस पर राज्य भर में गोष्टियाँ कर पेस्टीसाइड और कीटनाशक दवाओं से बचाव के उपाय सुझाय साथ ही प्रशासन को ज्ञापन देकर इनके रोकथाम की मांग की।
कैंसर जैसी बिमारी की रोकथाम और बचाव के लिए प्रतिज्ञाबद्ध मारवाड़ी युवा मंच ने राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस पर राजस्थान के कई शहरों में जिला कलेक्टर को ज्ञापन देकर शहरों में पेस्टीसाइड से बचाव और उसको दूर करने के प्रशसनिक स्टार पर कारवाई की मांग की साथ ही किसानों और सब्जियों और फलों के होलसेल विक्रेताओं द्वारा इस्तमाल की जाने वाली कीट नाशक दवाइयों पर प्रतिबन्ध की मांग की है . मारवाड़ी युवा मंच की प्रांतीय केंसर संयोजक डॉ काजल वर्मा ने बताया कि पेस्टीसाइड और कीटनाशक दवाइयों की वजह से मानव शरीर में कैंसर फेलने का काफी खतरा बना रहता है. किसान भाई और सब्जियों के होलसेल विक्रेता अधिक लाभ के चक्कर में इस खतरे को घर घर तक पहुचा रहे है. कीटनाशक दवाइयों की जगह जैविक खाद का उपयोग किया जाना चाहिए और इसके लिए अगर प्रशासन और सरकार किसान भाइयों का सहयोग कर उन्हें शिक्षित करे तो इस खतरे से बचा जा सकता है. डॉ काजल वर्मा ने बताया कि इसी लिए इस बार मारवाड़ी युवा मंच से प्रदेश भर में पेस्टीसाइड और कीटनाशक का इस्तमाल रोकने और कैसंर से बचने का अभीयान चलाया.
इस कड़ी में ,जयपुर कैपिटल एवं जयपुर मूमल शाखा द्वारा जवाहर सर्कल जयपुर पर स्पेशलिस्ट पैनल के साथ एक टॉक शो  आयोजन किया गया। जिसमे भगवान महावीर कैन्सर चिकित्सालय के वरिष्ठ कैन्सर विशेषज्ञ डॉक्टर ललित मोहन शर्मा ,दुर्गापुरा स्थित कृषि अनुसंधान केंद्र  के कृषि वैज्ञानिक वी एस यादव, जयपुर नगर की पूर्व महापौर श्रीमती ज्योति खंडेलवाल, प्रांतीय अध्यक्ष केदार गुप्ता ,कैपिटल शाखा अध्यक्ष मुकेश शर्मा, मूमल शाखा सचिव श्रीमती शिखा पारीक पैनल में सम्मिलित थी। कार्यक्रम में कैपिटल एवं मूमल शाखा सदस्यों के साथ साथ जयपुर शहर के नागरिकों ने भी शिरकत की। कार्यक्रम में कृषि में खाद्यांनो के उत्पादन में अंधाधुँध कीटनाशको के हो रहे इस्तेमाल से हो रहे स्वास्थ्य को नुक़सान एवं इससे निपटने के प्रयासों पर चर्चा की गई एवं कृषि में कीटनाशकों के इस्तेमाल को रोकने हेतु जगरूकता अभियान आरम्भ किये जाने पर बल दिया गया .
मारवाड़ी युवा मंच की नागौर शाखा ने गोष्ठी का आयोजन किया जिसमे जिला पुलिस अधीक्षक पेरिस देशमुख, कृषि विभाग के उपनिदेशक हरजी राम चौधरी ने शिरकत की मुख्य अतिथि जिला पुलिस अधीक्षक परिस देशमुख ने कहा कि किसी की पीड़ा की अनुभूति करना भी इलाज का आधा हिस्सा है .मरीज को प्रोत्साहित करके बिमारी को मात किया जा सकता है . उन्होंने युवाओं से नशे और व्यसन से दूर रहने की सलाह दी . अध्यक्षता कर रहे कृषि विभाग के उपनिदेशक हरजीराम चौधरी ने कहा की लालच के कारण ही कीटनाशक हमारे शारीर में जा रहा है. इसलिए जैविक खेती को बढ़ावा दिया जाना चाहिए . गोष्ठी में डॉ रणवीर चौधरी प्रांतीय केंसर संयोजक डॉ काजल वर्मा . मोजूद रहे . कई छात्रों ने भी अपने विचार व्यक्त किये.
इसके अलावा मारवाड़ी युवा मंच की सुजानगढ की मुख्यशाखा एवं महिला शाखा सखियाँ, नोखा की मुख्य शाखा, महिला प्रेरणा शाखा , श्री गंगानगर की मुख्य शाखा, नारी चेतना शाखा , उदयपुर की मारवाड़ी युवा मंच एवं महिला लेकसिटी शाखा, एवं हिम्मटसर की मुख्य शाखा, द्वारा अपने अपने जिले में जिला प्रशासन को पेस्टीसाइड और कीटनाशक दवाइयों का मानव जीवन पर प्रभाव बताते हुए रोक की मांग के साथ ज्ञापन दिया . मारवाड़ी युवा मंच की इन सभी शाखाओं ने ज्ञापन के माध्यम से मुख्यमंत्री कीटनाशक द्वारा मानव जीवन पर कैसर के मंडराते खतरे से आगाह कर इस दिशा में कारवाई करने और किसानों को जैविक खाद के बारे में शिक्षित करने का आग्रह भी किया. कई जिलों की शाखा ने कीटनाशक की रोकथाम के लिए कार्यशाला भी आयोजित की .

LEAVE A REPLY