Headlines :-

खबर 1 – पंचायतीराज चुनाव का दूसरा चरण संपन्न ,9 जिप68 पंचायत समिति सदस्यों के लिए 60.54% वाेटिंगपहले चरण के मुकाबले 6.57 प्रतिशत कम

खबर 2 – मावली विधायक धर्म नारायण  जोशी ने पुष्कर लाल डांगी परकिया  कटाक्ष ,कहा पांच साल में सिर्फ दो बार मुह खोला ,गिनाई भाजपा शाषन की उपलब्धिया 

खबर 3 – आनंदम् अभिविन्यास कार्यशाला में कुलपति की घोषणा7 दिसंबर को मनेगा आनंदम  दिवस400 संस्थाएं करेगी शिरकत

खबर 4 संस्कृति के साथ राजस्व पर भी मार:दशहरा-दीवाली मेले के बाद कोरोना ने हमारी एक और रौनक छीनी शिल्पग्राम मेला 31 साल बाद नहीं होगा, 10 करोड़ का सीधा नुकसान

…………………………………………………………………………………………………………………………

खबर 1 – पंचायतीराज चुनाव का दूसरा चरण संपन्न ,9 जिप68 पंचायत समिति सदस्यों के लिए 60.54% वाेटिंगपहले चरण के मुकाबले 6.57 प्रतिशत कम

Udaipur. पंचायतीराज चुनाव के दूसरे चरण में शुक्रवार काे खेरवाड़ा, नयागांव, ऋषभदेव और सराड़ा क्षेत्र में 9 जिला परिषद सदस्य और 68 पंचायत समिति सदस्याें के लिए वाेटिंग हुई। ठंड के चलते शुरुआत में कई बूथ सूने ही रहे। शाम 5 बजे तक 60.54 प्रतिशत वोटिंग हुई। यह पहले चरण के मुकाबले 6.57 प्रतिशत कम थी। 23 नवंबर काे पहले चरण की वोटिंग में 5 पंचायत समिति क्षेत्राें में 67.11 प्रतिशत मतदान हुआ था। उप जिला निर्वाचन अधिकारी ओपी बुनकर ने बताया कि सभी जगह चुनाव शांतिपूर्ण रहे। अब तीसरे चरण की वोटिंग में शहर से सटी पंचायतों सहित मावली, भींडर और वल्लभनगर में एक दिसंबर को वोटिंग होगी। वोटिंग के शुरुआती ढ़ाई घंटे तक बूथों पर ठंड का खासा असर रहा। मतदान सुबह 7.30 बजे शुरू हुअा। 10 बजे तक खेरवाड़ा पंचायत समिति क्षेत्र में 13.67 प्रतिशत, नयागांव में 8.79, ऋषभदेव 14.54, सराड़ा क्षेत्र में 10.98 प्रतिशत मतदान ही हाे पाया। धीमी वोटिंग से प्रत्याशियाें और नेताओं की चिंता बढ़ती रही। दाेपहर बाद मतदान में थाेड़ी तेजी आयी और 3 बजे तक खेरवाड़ा में 48.70, नयागांव में 56.13, ऋषभदेव 50.58 और सराड़ा क्षेत्र में मतदान प्रतिशत बढ़कर 50.28 पर पहुंचा। पहले चरण के चुनाव में भी शुरुआती दाैर में अधिकांश मतदान केंद्राें ऐसे ही विरान नजर आए थे।

 

खबर 2 –  मावली विधायक धर्म नारायण  जोशी ने पुष्कर लाल डांगी परकिया  कटाक्ष ,कहा पांच साल में सिर्फ दो बार मुह खोला ,गिनाई भाजपा शाषन की उपलब्धिया 

Udaipur. मावली विधायक धर्मनारान जोशी ने पत्रकार सम्मलेन में अपने विचार साझा किये एवं भाजपा के शाषन  की उपलब्धिया गिनाते हुए कांग्रेस को आड़े हाथो लेते हुए कहा की कांग्रेस ने कर्जमाफी ,बेरोजगारी भत्ता व बिजली डरो पर वादा खिलाफी की है। विधायक जोशी आज मावली स्तिथ विधायक कार्यालय में पत्रकार वार्ता को सम्बोधित कर रहे थे जिसमे उन्होंने पंचायत समिति सदस्य के लिए चुनाव लड़ रहे कांग्रेस के पूर्व विधायक रहे पुष्कर लाल डांगी पर कटाक्ष करते हुए कहा की वे 2008 से २०१३ तक विधायक रहे। इस दौरान विधानसभा में पांच वर्ष में केवल दो बार मुह खोला ,एक तो शपथ ली तब और दूसरा जब 295 में विशेष उल्लेख का प्रस्ताव रखा (जो की लिखित ही होता है और उसे हुबहू केवल पढना होता है )तब। ऐसे जनप्रतिनिधि को दो बार हारने के बाद भी कांग्रेस पंचायत समिति का टिकट देती है तो ये घोर आश्चर्य है। विधायक जोशी ने ये भी कहा की आज़ादी के बाद मोदी देश के पहले मुखिया है जिन्होंने किसान का हित सोचा।तत्कालीन  वसुंधरा सरकार की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा की  किसानी का पचास हज़ार का कर्जा  व् दस हज़ार तक का बिजली बिल माफ़ किया था  लेकिन इसके उलट गहलोत सरकार का दस दिन में कर्ज़माफी का वादा केवल चलवा साबित हुआ है। पांच वर्ष तक बिजली के दाम नहीं बढाने का वादा करने वाली कांग्रेस ने मनमानी बढ़ोतरी कर दी है। साथ ही गहलोत सरकार पर पंचायत राज संस्थाओ का गला घोटने का आरोप भी लगाया। इसीके साथ स्टेट हिव्य पर निजी वाहनों कोप टोल मुक्त  करने,बागोलिया को भरने ,मावली के राजकीय महाविद्यालय के भवन निर्माण ,पेयजल समस्या सहित कई सारे मुद्दों पर अपनी राय  रखी।

 

खबर 3 – आनंदम् अभिविन्यास कार्यशाला में कुलपति की घोषणा7 दिसंबर को मनेगा आनंदम  दिवस400 संस्थाएं करेगी शिरकत

Udaipur. मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय के आनंद एवं आरोग्य केंद्र के की ओर से शुक्रवार को ‘आनंदम् अभिविन्यास’ पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि प्रमुख शासन सचिव  डॉ शुचि शर्मा थी। डॉ शर्मा ने  आनंदम् का तात्पर्य जीवन को उत्सव रूप में जीना बताया। उन्होंने बताया कि इससे विद्यार्थियों में सृजनात्मकता एवं जीवन मूल्यों का बोध विकसित हो सकेगा। शिक्षा को जीवन से जोड़ना ही आनंदम् का प्रयोजन है। कुलपति प्रो. अमेरिका सिंह ने अध्यक्षता करते हुए कहा कि इस अनिवार्य पाठ्यक्रम से छात्रों में तनाव व अवसाद दूर होने के साथ उनका नैतिक और चारित्रिक विकास होगा। विवि में पूरे मन और दिल से यह कोर्स लागू किया गया है। प्रो सिंह ने 7 दिसंबर को आनंदम्  दिवस मनाए जाने की घोषणा की, जिसमें सुखाड़िया विवि के साथ गोविन्दगुरु जनजातीय विवि बाँसवाड़ा और प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विवि  से सम्बन्धित  400 संस्थाऍ शिरकत करेंगी। यह कार्यक्रम ऑनलाईन होगा। कार्यक्रम के समन्वयक प्रो. नीरज शर्मा ने आनंदम् को शिक्षा का वास्तविक प्रयोजन बताया। उन्होंने आनंदम्  के द्वारा विद्यार्थियों के होने वाले समग्र विकास को बताते हुए आनंदम् के स्वरूप, पाठ्यचर्या,  अंकयोजना, परीक्षा प्रणाली इत्यादि विषयों पर विस्तार से प्रकाश डाला। विशिष्ट अतिथि श्रीमती नीलिमा खेतान ने पूरे भारत में प्रथमतया राजस्थान में सत्र 2020-21 से लागू हो चूके इस पाठ्यक्रम को विद्यार्थियों की रचनात्मक योग्यता को विकसित करने वाला बताया। कार्यक्रम में स्वागत उद्बोधन आर्ट्स कॉलेज डीन प्रो. सीमा मलिक तथा आभार प्रदर्शन प्रो. एन. लक्ष्मी ने किया। संचालन डॉ. नवीन नंदवाना ने  किया। कार्यशाला में सुविवि के सभी संगठक और सम्बद्ध महाविद्यालयों के प्राचार्य, नोडल अधिकारी और मेंटर्स ने भाग लिया।

 

खबर 4 –  संस्कृति के साथ राजस्व पर भी मार:दशहरा-दीवाली मेले के बाद कोरोना ने हमारी एक और रौनक छीनी शिल्पग्राम मेला 31 साल बाद नहीं होगा, 10 करोड़ का सीधा नुकसान

Udaipur. कोरोना वायरस सेहत के साथ अब हमारी रौनक भी छीनता जा रहा है। दशहरा-दीवाली मेला रद्द होने के बाद 31 साल के इतिहास में पहली बार 21 से 31 दिसंबर तक हर साल होने वाला शिल्पग्राम महोत्सव भी टल गया। इससे जहां एक मंच पर 23 राज्यों की कला और संस्कृति का मिलन नहीं होगा, वहीं महोत्सव में शामिल होने वाले डेढ़ लाख पर्यटकों के नहीं आने से शहर के राजस्व को 10 करोड़ का सीधा नुकसान होगा। हालांकि पश्चिमी सांस्कृतिक केंद्र ने संस्कृति मंत्रालय, वेस्ट जाेन चेयरमैन और प्राेग्राम कमेटी काे प्रपाेजल देकर महाेत्सव की तारीख आगे बढ़ाने की मांग की है। बता दे की 1989 से हर साल 21 से 31 दिसंबर के बीच इस महोत्सव के ज़रिये  23 राज्यों की कला, संस्कृति और व्यंजनों का मिलन होता है. शहर के सबसे बड़े महोत्सव में हर साल 1.50 लाख देसी-विदेशी पर्यटक पहुंचते हैं| अफसरों ने महोत्सव की तारीख बढ़ाने का प्रपाेजल भेजा लेकिन तारीख बढ़ा भी दी तो अगले साल ही हो पाएगा महोत्सव। दिसंबर में होने वाले इस महोत्सव की तैयारी दाे माह पहले शुरू हाे जाती है, लेकिन इस बार ऐसा कुछ नहीं हाे रहा। ना तो कलाकारों को निमंत्रण दिया गया है, ना व्यवस्थाओं काे लेकर टेंडर निकाले गए हैं और ना ही दुकानें नीलाम की गई हैं। कोरोना वायरस का असर कम होने और सख्ती हटने के बाद अगर केंद्र को अनुमति मिलती भी है तो भी वह जनवरी के आखिर में या फरवरी के पहले सप्ताह से पहले यह महाेत्सव नहीं करवा सकेगा। ऐसे में 2021 में दाे बार शिल्पग्राम महोत्सव हो सकता है।

____________________________________________________________________

Watch Full Video On YouTube – https://youtu.be/SxuIrsHnWBc

Subscribe Our Channel – https://www.youtube.com/channel/UC13eeUsfNS-BfFgLLZzPHJw?view_as=subscriber

Like Our FaceBook Page (Udaipur Post) – https://www.facebook.com/UdaipurPost

                                         (CBC Wire )      –https://www.facebook.com/cbcnewswire

Follow Us On Instagram (Udaipur Post) –https://www.instagram.com/udaipurpost/

                                         (CBC Wire )      – https://www.instagram.com/cbcwire/

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here