दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलर लियोनेल मेसी की आंखों में आंसू की ये तस्वीर उनके करोड़ों प्रशंसकों को भी रुला गई। इन आंसुओं की वजह है, अर्जेंटीना के इस स्टार फुटबॉलर का स्पेनिश फुटबॉल क्लब बार्सिलोना को छोड़ना।
मेसी 13 साल की उम्र में क्लब से जुड़े थे और 21 साल से इसी क्लब की ओर से खेल रहे थे। दरअसल बार्सिलोना की टीम को भारी वित्तीय संकट से जूझना पड़ रहा है। क्लब पर 8000 करोड़ रुपए का कर्ज है। जबकि मेसी की 2017 में क्लब से आखिरी डील करीब 4900 करोड़ रुपए की हुई थी। क्लब इकोनॉमिक कंडीशन को देखते हुए आगे की डील नहीं कर सकता था। जिसकी वजह से मेसी का करार खत्म करना पड़ा।
रविवार को क्लब की ओर से मेसी के लिए विदाई समारोह था। कैंप नोउ स्टेडियम में हुए इस फेयरवेल में मेसी अपने जज्बातों पर काबू नहीं रख पाए और वे रोने लगे। उन्होंने कहा- बार्सिलोना मेरे घर जैसा है। यहां पर 21 साल बिताने के बाद इसे छोड़ना मेरे लिए काफी मुश्किल है। कभी सोचा नहीं था कि ऐसा भी दिन आएगा। मैं इसके लिए तैयार नहीं था। पर स्पेनिश लीग के वित्तिय नियमों के कारण क्लब के साथ मेरा कॉन्ट्रैक्ट आगे जारी रखना संभव नहीं था। हालांकि मुझे भरोसा था कि मैं क्लब के साथ बना रहूंगा। मैने सैलरी को 50% कम करने का भी ऑफर दिया था, पर प्रशासन से बात नहीं बन पाई।
मेसी स्पेन की बार्सिलोना क्लब को छोड़ने के बाद अब फ्रांस के फुटबॉल क्लब पेरिस सेंट जर्मेन की ओर से खेलेंगे। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक उनका फ्रांस की क्लब पेरिस सेंट जर्मेन के साथ 3 साल का कॉन्ट्रैक्ट साइन हो चुका है। इसे एक साल के लिए बढ़ाने का भी विकल्प है। उन्हें कंपनी प्रति सीजन 35 मिलियन यूरो यानी 305 करोड़ रुपये सैलरी देगा।
मेसी बार्सिलोना के लिए 21 साल से खेल रहे हैं। वह बार्सिलोना के लिए सबसे अधिक 672 गोल करने वाले खिलाड़ी हैं। उन्होंने क्लब के साथ 778 मैच खेले, जो एक रिकॉर्ड है। वह 520 मैचों में 474 गोल के साथ स्पेनिश लीग में भी शीर्ष स्कोरर भी हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here