पोस्ट न्यूज़। केंद्र सरकार ने आम आदमी को घेर घेर कर मारने की योजना बनाई थी जो अब धीरे धीरे काम कर रही है। पहले काले धन के 15-15 लाख रूपये देने का लालच दे कर जान धन खाते खुलवाना। हर गरीब आम आदमी जिसकी आमदनी से दो वक़्त का गुजारा भी मुश्किल से होता है उसको तरह तरह के लालच देकर बैंक में खाते खुलवा दिए। फिर राष्ट्रवादी और आंतकवाद को ख़तम करने की नोटंकी कर नोट बंदी का डंडा कर हर आम आदमी के रूपये बैंक में जमा करवा दिए, और अब बैंक को अरबों खरबों का फायदा देने के लिए आम आदमी की फटी जेब को भी लूटा जारहा है। जिसके घर में पाई पाई की जरूरत महसूस होती है उसकी जेब से जबरदस्ती बैंकों की तिजोरियां भरने के लिए केंद्र सरकार ने सरकारी डंडा आम आदमी के सामने लटका दिया है जो ना चाहते हुए भी उसके सर पर खुद उसको मारना पड़ेगा। खून पसीने की कमाई को धन्ना सेठो की तिजोरियों में भरने के लिए एक आम आदमी का खून चूसने की तैयारी हो चुकी है।
आइये जानते है बैंक आपके जेबों पर किस तरह डाका डालेगें।
एक और तो गवर्नमेंट सभी लोगों को बैंक से जोड़ना चाहती है और दूसरी और आम लोगों पर ही ज्यादा से ज्यादा भार डाला जा रहा है। बैंकों में 20 जनवरी से नियम बदलने जा रहे हैं। बैंक में पैसा जमा करने का भी आपको चार्जेस देना होगा। चेक से अमाउंट निकालने पर चार्ज देना होगा। हम बता रहे हैं ऐसी 7 सर्विसेज जो अब फ्री नहीं रह जाएंगी। आपको इन छोटी-छोटी सर्विसेज के लिए भी बैंक को चार्ज देना होगा।
अकाउंट से सीधे कट जाएगा चार्ज

यह चार्जेस लागू होते हैं तो आपके अकाउंट से सीधे शुल्क कटेगा। देशभर के अकाउंट होल्डर्स इससे प्रभावित होंगे। बैंक ग्राहक पहले ही कई तरह के चार्जेस दे रहे हैं। इसमें मिनिमम बैंलेंस न होने से लेकर एटीएम से निकाले जाने वाली राशी को लेकर लगने वाले चार्जेस तक शामिल हैं।ऐसे में यह नये चार्जेस ग्राहकों को और बड़ा झटका दे सकते हैं।
ये 7 सर्विस 20 जनवरी से नहीं रह जाएंगी मुफ्त, देखिए कोन कोन सी सर्विस है जिन पर  अब चार्ज ….

 

LEAVE A REPLY