आईफोन चलाने वाले यूजर अब इस बात का पता लगा सकते हैं कि कहीं उनके फोन में पेगासस स्पायवेयर तो नहीं है। स्विट्जरलैंड के जिनेवा बेस्ड Digi DNA ने iOS के लिए आईमैजिंग ऐप तैयार किया है, जो आईफोन में स्पायवेयर की पहचान कर लेता है। इसका इस्तेमाल पेगासस का पता लगाने के लिए भी किया जा सकता है।

भारत में पेगासस जासूसी मामले से जुड़ी 9 अर्जियों पर मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। इस दौरान सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने सरकार का जवाब दाखिल करने के लिए और समय मांगा। कोर्ट में दाखिल अर्जियों में पेगासस के जरिए जासूसी की जांच की मांग की गई है।

मैक या विंडोज कंप्यूटर पर भी काम करेगा
कंपनी ने इस ऐप को डिजाइन करने के लिए एमनेस्टी की मोबाइल वैरिफिकेशन टूलकिट का इस्तेमाल किया है। इस टूल को मैक या विंडोज कंप्यूटर पर इस्तेमाल किया जा सकता है। इसकी मदद से पता चल जाएगा कि आपके फोन में पेगासस अटैक हुआ है या नहीं।
आईफोन पर पेगासस स्पायवेयर अटैक का पता लगाने की प्रोसेस

आईफोन पर पेगासस स्पायवेयर का पता लगाने के लिए आपको सबसे पहले अपने मैक या विंडोज पर आईमैजिंग ऐप का नया वर्जन इंस्टॉल करना होगा।
यह अपडेट पूरी तरह से फ्री होगा। इसकी सभी सर्विस का इस्तेमाल करने के लिए लाइसेंस का पेमेंट नहीं करना होता है।
कंप्यूटर पर आईमैजिंग इंस्टॉल करने के बाद पहली बार ट्रायल करने के ऑप्शन पर क्लिक करें।
पेगासस स्पायवेयर का पता लगाने के लिए लाइटनिंग USB केबल का इस्तेमाल करके अपने आईफोन को कंप्यूटर से कनेक्ट कर सकते हैं।
इसके बाद राइट हैंड पर कई ऑप्शन देखने को मिलेंगे। इन ऑप्शन के जरिए नीचे स्क्रॉल करने पर स्पायवेयर का पता लगा सकते हैं।
स्पायवेयर डिटेक्शन टूल के साथ जुड़ने के लिए अगला बटन दबाएं।
आईमैजिंग ऐप अब आपको सर्वर से नया स्ट्रक्चर्ड थ्रेट इंफॉर्मेशन एक्सप्रेशन (STIX) फाइल डाउनलोड करने के लिए कहेगा।
डाउनलोडिंग के बाद, ऐप आपको एनालिसिस के लिए अपने आईफोन डेटा का लोकल बैकअप बनाने के साथ बैकअप एन्क्रिप्शन इनेबल करने के लिए भी कहेगा। यह आपके बैकअप को पासवर्ड प्रोटेक्टेड करेगा।
आईमैजिंग अब आपके डेटा का बैकअप लेना शुरू कर देगा। आपको अपनी ओर से कुछ भी मैनुअल रूप से करने की जरूरत नहीं है क्योंकि ऐप बैकअप को ऑटोमेटिक कर देगा।
एक बार बैकअप प्रोसेस हो जाने के बाद, आईमैजिंग डेटा को डिक्रिप्ट करेगा और पेगासस स्पायवेयर के लिए फाइलों का एनालिसिस करेगा।
इसके बाद स्पायवेयर से हुए हमले की नोटिफिकेशन मिलने लगेगी। इस प्रोसेस को पूरा करने में आईमैजिंग को लगभग आधे घंटे का समय लगता है।
Digi DNA यूजर्स को आगे का एनालिसिस करने के लिए अपनी सर्विस टीम के पास जाने की सलाह देता है। कंपनी यह भी सुझाव देती है कि यदि आपको स्पायवेयर अटैक की पॉजिटिव रिपोर्ट मिली है और आप या आपके परिवार के मेंबर राजनीति से जुड़े हैं, तो आपको अपना सिम कार्ड हटा देना चाहिए और अपना आईफोन बंद कर देना चाहिए।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here