l_panther-1466665689उदयपुर/राजसमंद। केलवाड़ा क्षेत्र के छीतर की बादल गांव में बीती रात घुसा पैंथर एक छत पर सा रहे माता-पिता के पास से एक १२ साल की बच्ची को उठा ले गया। जाग होने बाद बच्ची का शव मकान के पिछवाड़े पड़ा मिला। इस घटना से ग्रामीणों में भय और वन विभाग के प्रति काफी गुस्सा है।
जानकारी के अनुसार केलवाड़ा क्षेत्र के छीतर की बादल निवासी १२ वर्षीय रवीना उसके पिता रणजीतसिंह और मां के साथ बीती रात मकान की छत पर सो रही थी। रात्रि को माता-पिता के पास सो रही रवीना अचानक गायब हो गई। मां को जब बच्ची नहीं मिली तो उसकी तलाश शुरू हुई। पता चला कि छत पर पैंथर आया था और वह बच्ची को उठाकर ले गया। उसका शव मकान के पिछवाड़े मिला। शव के आसपास पैंथर के पैरों के निशान थे। बच्ची के गले पर दांत से काटने के निशान थे। सुबह चार बजे इस बारे में बच्ची के माता-पिता को पता चला। इस घटना के बाद गांव में दशहत का माहौल है। ग्रामीणों का आरोप है कि वन विभाग के कर्मचारियों ने पैंथर को पूर्व में नहीं पकड़ा, जबकि लंबे समय से इसकी शिकायत की जा रही थी। पैंथर की तलाश में वन विभाग और पुलिस आज सुबह गांव मेंं पहुंची। पुलिस ने मृत बच्ची का शव सीएचसी बजपुरा में रखवाया है। वन विभाग के अधिकारियों ने आज गांव के पास ही पिंजरा लगाकर पैंथर को पकडऩे के प्रयास शुरू कर दिए हैं।

LEAVE A REPLY