उदयपुर। कोरोना के खिलाफ आमजन की जंग में जनता पूरी तरह जाग्रत नज़र आ रही है। रविवार २२ मार्च को जनता कर्फ्यू के दौरान उदयपुर शहर ही नहीं बल्कि पूरा उदयपुर संभाग की सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है। उदयपुर , बांसवाड़ा, डूंगरपुर , राजसमंद, चित्तौड़गढ़ सहित पुरे संभाग में सुबह से जनता कर्फ्यू के तहत सड़कों गलियों मोहल्लों में सन्नाटा पसरा हुआ है। कोरोनावायरस के कहर से बचने के उपायों के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर सुबह सात बजे से देशभर में जनता कर्फ्यू लगा हुआ है, जिसके कारण लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते गुरूवार को देशवासियों को संबोधित करते हुए रविवार को सात बजे से लेकर रात नौ बजे तक जनता कर्फ्यू लगाने की अपील की थी.
उदयपुर शहर में सुबह से इक्का दुक्का कही बाइक सवार दिख रहे थे जिनसे पुलिस वाले कभी समझाइश कर तो कभी कड़ाई से पूछताछ कर घर में रहने की सलाह दे रहे थे। इस दौरान आवश्यक सेवाएँ होस्पिटल आदि खुले रहे।
शहर के बापूबाजार, सूरजपोल अश्विनी बाज़ार, हाथीपोल, घंटाघर जगदीश चौक, मल्लातलाई, हिरणमगरी, गोवर्धन विलास, उदियापोल सहित शहर की हर सड़क पर सन्नाटा पसरा रहा। लोगों ने एक तरह से अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए जनता कर्फ्यू का पालन किया। हाइवे पर भी कोई वाहन की आवाजाही नहीं हुई। सरकारी और निजी बसों का सञ्चालन भी बंद ही रहा।
गौरतलब है कि राजस्थान में 31 मार्च तक लॉक डाउन है जिसके अंतर्गत आवश्यक सेवाओं को छोड़ कर सभी दफ्तर दुकानें, संस्था आदि बंद रहेगें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here