post. news . यूपी के अलीगढ़ में स्थित पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी की पत्नी के मदरसे के वाटर टैंक में जहर घोलकर छात्रों को मारने की साजिश रची गई है। पूर्व उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी की पत्नी सलमा अंसारी के चैरपर्सनशिप वाली अलनूर चैरिटेबल सोसाइटी द्वारा चलाए जा रहे इस मदरसे में शनिवार सुबह दस बजे दो लड़के दीवार लांघकर अंदर आये और वाटर टैंक में जहर घोलने लगे। इस दौरान अच्छी बात ये रही कि एक छात्र ने उन्हें ऐसा करते हुए देख लिया। इस छात्र का नाम अफजल है। जब अफ़ज़ल इस बारे में बताने के लिए वहां से जाने लगा तो उन दोनों युवकों ने उसे देख लिया और उसके सामने पिस्तौल तान दी। उन्होंने अफ़ज़ल को किसी को इस बारे में कुछ बताने पर जान से मारने की धमकी दी। जिसके बाद वे दोनों उसकी दीवार को लांघकर वापिस भाग गए। भागने की जल्दबाजी में उन्होंने जहर की रैपर वहीँ पर फेंक दिया।

इस घटना की जानकारी देते हुए सलमा अंसारी ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में यह आरोप लगाया है। उन्होंने कहा, “जब बच्चे ने उन दोनों शख्स को रोकने की कोशिश की तो वे उसे धक्का देकर भाग निकले। इसके बाद बच्चे ने वार्डन को अलर्ट किया, पुलिस बुलाई गई। जांच में टैंक के पास चूहा मारने की कई टैबलेट पाई गईं।”
15 सितंबर की ये घटना अलीगढ़ के चाचा नेहरू मदरसे की है। वहां करीब 4000 बच्चे पढ़ते हैं। इस संस्था को अल नूर चैरिटेबल सोसाइटी चला रही है, जिसकी चेयरपर्सन सलमा अंसारी हैं।  सलमा अंसारी ने कहा कि दोनों अज्ञात शख्स ने बच्चे को मुंह खोलने पर गंभीर नतीजे भुगतने की चेतावनी भी दी थी। दोनों ने बच्चे से इस घटना के बारे में किसी को नहीं बताने को कहा था। सलमा अंसारी के मुताबिक दोनों अज्ञात शख्स के खिलाफ सेक्शन 328 (जहर के कारण चोट पहुंचाने) और 506 (आपराधिक धमकी) के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। उन्होंने कहा कि अगर बच्चे ने उस वक्त इस घटना की जानकारी नहीं दी होती तो हालात गंभीर हो सकते थे।  सलमा ने कहा, “इस घटना के बाद हमने इस 18 साल पुरानी संस्था में सीसीटीवी कैमरे लगाने का फैसला लिया है ताकि आगे सावधानी बरती जा सके।”

LEAVE A REPLY