पोस्ट न्यूज़ चुनाव के वक़्त जिस जनता के सामने ये खादी धारी नेता शराफत का चोला पहन कर हाथ जोड़े हमारे दर पर ,… वोट मांगने की गुहार लगाते है ,.. और जनता इनके झांसो में आकर इन्हें भारी वोट देकर जिताती है उसके बाद ,.. ये खादी धारी नेता शराफत का चोला उतार कर अपने असली रंग में आजाते है और सत्ता के नशे में चूर ये ,… खादी धारी ,.. अपने सारे वादे भूल बजाये जनता के सेवक बनने के,.. उनके मालिक बन जाते है और जनता को अपना गुलाम समझने लगते है ,… और ऐसे नेता अपनी बेशर्मी का प्रदर्शन अक्सर करते रहते है ,.. ऐसे ही एक नेता ने अपनी gunndai और दादागिरी बताते हुए एक 6 हज़ार रूपये कमाने वाले टोल कर्मी से मारपीट की ,.. ये नेता है बांसवाडा जिले के गड़ी के विधायक जीतमल खंत जो राजस्थान सरकार के पूर्व राज्य मंत्री रह चुके है जिन्होंने सरकारी राशि का जम कर दुरूपयोग किया था।
आइये हम आपको दिखाते है एक गरीब कर्मचारी की पिटाई करते ये नेता का वीडियो ,.. हमारे साथ इस वीडियो के आखिर तक बने रहिएगा और अभी तक हमारे चेनल को snskraaib नहीं किया है तो एक बार सन्स्क्राइब करिए और पास में घंटे का बटन दबाना ना भूले

जीहाँ ये है गडी के विधायक जीत मल खांट का वीडियो जिसने सत्ता के नशे में मदमस्त हो कर एक छोटी बात पर उदयपुर रोड स्थित बडलिया टोल नाके पर केबिन में घुस कर एक टोल कर्मी से मारपीट की उसको थप्पड़ों और घूसों से मारा उसके बाल खीच कर ,… गालियों देते रहे ,.. हालाँकि जिस भाषा का इस्तमाल विधायक ने इस गरीब कर्मचारी के लिए किया उस भाषा से ही जनता को इस विधायक का महिमा मंडन करना चाहिए ,.. और एक नेता को उसकी ओकात दिखानी चाहिए कि वह जनता का मालिक नहीं बल्कि जनता का सेवक है ,…. सत्ता के नशे में चूर हो कर जनता को ही मारने और गालियाँ देने के लिए जनता ने वोट नहीं दिए थे ,. वोट इसलिए दिए है कि उसने जनता के सामने हाथ जोड़ कर उसकी सेवा का वादा किया था ,…. जो अब जनता का बाप बना बैठा है चुनाव के वक़्त,….. एक मांगने वालों की तरह हाथ जोड़े दर दर गया था ,.. जनता के पैर पडा ,… किसी गरीब मामूली कर्मचारी पर अपनी थाणे दारी दिखाने के लिए जनता ने वोट नहीं दिया था ,…

लेकिन बांसवाडा जिले के गडी विधायक जीतमल खांट ने एसा कोई महान काम नहीं किया बल्कि एक गरीब मजलूम युवा की ज़रा सी गलती पर,… अपनी मर्दानगी दिखाने के लिए अपने हुजिरियों समर्थकों के साथ टूट पड़ा ,… अगर एसी मर्दानगी दिखानी थी तो चुनाव में किये वादे पूरी कर के दिखाते ना कि एक गरीब को पीट कर ,..
ये घटना है शुक्रवार की जब विधायक जीतमल खांट किसी कार्यक्रम के लिए जा रहे थे और रास्ते में उदयपुर बांसवाडा रोड पर बडलिया टोल नाके पर जब एक टोल कर्मी ने प्राइवेट गाडी देख कर पैसे मांग लिए,…… बस फिर क्या था इन विधायक श्रीमान का ईगो हर्ट हो गया और पूरी दादागिरी दिखाते हुए ये अपनी गाडी से उतरे और केबिन में बैठे टोल कर्मी २३ वर्षीय प्रियंक सिंह पर दुश्मनों की तरह टूट पड़े,…. विधायक की इस काली करतूत का वीडियो भी वायरल हुआ जिसमे विधायक खांट कुर्सी पर बैठे एक टोलकर्मी के बाल खींचकर उसे नीचे गिरा देते हैं और फिर जोर से थप्पड़ जड़ रहे हैं। इस दौरान पीली शर्ट पहने उनका एक समर्थक भी टोल कर्मी पर टूट पड़ता है । केबिन में कर्मचारी से इस तरह मारपीट देख उसका एक साथी बीचबचाव की कोशिश करता है। लेकिन खांट बार-बार उसे अंगुली दिखाकर गालियाँ देते और धमकाते नजर आते हैं। टोलकर्मी से मारपीट की वजह विधायक की गाडी से टोल मांगना बताया जा रहा है ,….
सत्ता के इन अहंकारियों को यह पता नहीं है यह जनता है जिसने इनको यहाँ बैठाया है इन्हें उतारना भी जानती है ,…. इस सम्बन्ध में अभी तक पुलिस में टोल कंपनी या टोल कर्मी की तरफ से पुलिस में कोई शिकायत दर्ज नहीं करवाई गयी है ,…….. शिकायत दर्ज नहीं करवाने का कारण राजनैतिक दबाव हो सकता है ,…………..

लेकिन हम आपसे कहना चाहते है ,.. ऐसे किसी भी नेता या मंत्री की इस तरह की गुंडागर्दी बर्दाश्त नहीं करणी चाहिए ,.. अगर जहाँ कार्य कर रहे हो वह संस्था साथ ना दे तो खुद पर्सनल एसी गुंडागर्दी के खिलाफ आवाज़ उठाकर मामला दर्ज करवाना चाहिए ,…. हो सकता है पुलिस भी कोई कारवाई नहीं करे ,… लेकिन ऐसे लोगों के खिलाफ एफ़ाइआर दर्ज होनी चाहिए ,..चाहे वो कितना भी पॉवर फुल क्यूँ ना हो

पुलिस नहीं करती है तो कोर्ट का दरवाज़ा खटखटाओ ,….. बोलोगे नहीं तो रोज़ ये लोग हमे पिटते रहेगें आज ये है तो कल कोई और होगा परसों हम खुद होंगे इसलिए ऐसे नेता विधायक यहाँ तक की मंत्री भी हो तो उनके खिलाफ आवाज़ उठानी चाहिए ,….. ये लोग आये थे हमारे पास हमारी सेवा करने का प्रण लेकर हाथ जोड़े आते थे ,.. इन्हें हमारा मालिक मत बनने दो दोस्तों वरना खादी धारी गुंडा गर्दी करते रहेगें और हमे गुलाम समझते रहेगें ,……
देखिये विडियो

LEAVE A REPLY