उदयपुर . राजस्थान में बागी हुए सचिन पायलट 32 दिन बाद वापस लौट आए हैं। सचिन की वापसी पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मंगलवार को पहली प्रतिक्रिया सामने आई है। गहलोत ने कहा कि जो लोग वापस आए हैं, वो किन परिस्थितियों में गए थे इस बारे में मुझे पता नहीं। मुझसे क्या नाराजगी है। अगर मैं मुख्यमंत्री हूं, अगर मेरी पार्टी के लोग मुझसे नाराज हैं तो मेरी जिम्मेदारी है उनसे बात करूं।

उन्होंने आगे कहा कि सबकुछ हाईकमान ने तय किया है। कल जो भी फैसले हुए हैं, वो बता दिए जाएंगे। इसके बाद अब आगे की रणनीति बनेगी। भाजपा के नेताओं ने पूरा जोर लगा लिया था। सरकार को गिराने का। लेकिन, एक आदमी टूटकर नहीं गया। भाजपा को मुंह की खानी पड़ी है।

गहलोत ने कहा कि भाजपा नेताओं की धज्जियां उड़ गई हैं। उन्होंने विधायकों को गुजरात भेजने के लिए तीन प्लेन बुक किए थे। विधायक दल की बैठक बुलायी थी। लेकिन, सबकुछ कैंसिल करना पड़ा गया। इनकी दुर्गति हो गई। हमारे विधायकों ने एकजुटता दिखाई, जिससे भाजपा का अहंकार टूट गया

उन्होंने यह भी कहा कि अभी संकट लोकतंत्र को बचाने का है। जयपुर में क्या-क्या हो रहा है। कांग्रेस में सभी फैसले जनता के हिसाब से होते थे। लेकिन, केंद्र में जो सरकार आई है वह जनता के बारे में सोचती ही नहीं है। सिर्फ धर्म की राजनीति कर रही है। कांग्रेस पार्टी एकजुट है और अगले 5 साल तक शासन करेगी। फिर जीत कर आएंगे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here