उदयपुर। राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बन गयी। मुख्यमंत्री के बाद मंत्रियों की घोषणा भी हो गयी लेकिन कांग्रेस की मुश्किलें कम होती नज़र नहीं आरही है। जब से मंत्रीमंडल की घोषणा हुई और मेवाड़ से बड़े बड़े नामों की अनदेखी के चलते बड़े कांग्रेस नेताओं के समर्थक आक्रोश में है। मंगलवार से तो एक मेसेज सोशल मिडिया पर वायरल हो रहा है जिसमे लिखा है कि कांग्रेस के कद्दावर नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री डाॅक्टर सीपी जोशी अपने एक लाख कार्यकर्ताओं के साथ कांग्रेस से इस्तीफा दे रहे है। वह कांग्रेस के तीस विधायकों के साथ भारतीय जनता पार्टी को समर्थन देकर सरकार गिरा सकते है। इसका खंडन करने के लिए हालाँकि खुद डॉ सीपी जोशी तो नहीं आये लेकिन राजसमन्द के कांग्रेस जिलाध्यक्ष देवकीनंदन का बयान जरूर आया की यह सिर्फ अफवाह है और यह विरोधियों की साजिश है। भाजपा की यह एक मात्र चाल है।
यह मेसेज अफवाह ही है लेकिन बड़े नेताओं जैसे सीपी जोशी महेंद्रजित सिंह मालविया जैसों को मंत्री मंडल में नहीं लेने के कारण उनके समर्थक और कार्यकर्ताओं में रोष साफ़ देखा जा सकता है। माना जा रहा है कि इसी रोष के कारण नाथद्वारा के विधायक डॉ सीपी जोशी शपथ ग्रहण समारोह में भी नहीं पहुचे थे।

LEAVE A REPLY