उदयपुर . राजनीति स्वार्थ और कुर्सी की चाह जाने क्या क्या करवा देती है , चुनाव का दौर है और जो लोग जनता की सेवा करने का दावा कर विधायक बनाने के सपने पाले हुए है वो अपने विरोधियों का यूँ कहिये अपने प्रतिद्वंदियों को जी भर कर गालिया दे रहे है, बात अगर हम  उदयपुर शहर विधानसभा करें तो यहाँ गाली और अमर्यादित भाषा का पूरा बाज़ार सज चुका है, एक तरफ भाजपा के प्रत्याशी और मोजुदा विधायक गुलाबचंद कटारिया कांग्रेस की जड़ों में तेज़ाब डालने जैसे फ़िल्मी डायलोग मार रहे है तो दूसरी तरफ उन्ही की पार्टी का दम भरने वाले उनको हार्ट अटैक से मारने की बात कह रहे है,.. जी हाँ अगर इन हार्ट अटैक से मारने वाले साहब की बात माने तो अगले २० दिनों में राजस्थान के गृहमंत्री  हार्ट अटैक से मर जायेगें,

प्रवीन रतालिया नाम के इस एक शख्स का कहना है कि वे अगक्ले 20 दिनों में कटारिया की इतनी हालत खराब कर देंगे कि वह हार्ट अटैक से मर जायेगें .
 ये दावा करने वाले साहब है समाज की सेवा करने का दावा करने वाले प्रवीण रतालिया दावा तो यह समाज की सेवा करने का करते है लेकिन फिलहाल हार्ट अटैक से मारने में  एक्क्स्पर्ट लग रहे है .
आखिर बैर क्या है इनका गुलाबचंद कटारिया से, चलिए कम शब्दों में आपको बता देते है, श्री प्रवीन रतालिया अपने चंद समाज सेवा के घोड़े पर सवार हो कर सत्ता की कुर्सी पर खुद को बैठे देखने का सपना पाले हुए थे . इस सपने को साकार करने करने के लिए इन्होने काफी जुगत भी लगाईं भाजपा के आला कमान को खुश करने के लिए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के नाम से नमो विचार मंच भी बनाया अमित शाह के शान में कार्यक्रम भी किये और आखिर जिस काम के लिए ये सारी उठापटक की यानी शहर का विधायक बनने के लिए तो उसका केम्पेन भी सोशल मीडिया और शहर में पोस्टर लगा के चलाया खेर फायनली बात बनी नहीं और भाजपा से टिकिट मिला ,.. साहब को गुस्सा आगया और मंगलवार को प्रेस कोंफ्रेस बुला कर निर्दलीय चुनाव लड़ने का एलान कर दिया साथ ही गुलाबचंद कटारिया को हार्ट अटैक से मारने का दावा भी ठोक दिया इनका कहना है कि. इनके पास कटारिया जो पाक साफ़ होने का दावा करते है उनकी कर्तुत्प्म का कच्चा चिटठा है जो एक एक कर खोलेगें और कटारिया उन्हें देख हार्ट अटैक से ,……….
सोचिये सिर्फ टिकिट नहीं मिला उसमे इन समाज की सेवा करने वाले के तेवर इसे है अगर यह टिकिट ले कर जीत गए होते तो जिस जनता को यह समाज सेवा की नोटंकी के नाम पर चप्पल और स्वेटर बाँटते  है उस जनता की खाल भी उतरवा लेते ,.. खेर ,.. फिलहाल हम यह देखेगे की अगले २० दिनों में ये कौनसे  ऐसे काम करते है कि जिससे गुलाबचंद कटारिया को हार्ट अटैक आजायेगा ,.. फिलहाल इन्होने किसी जमीं के कागज़ दिखाए है जो गुलाबचंद कटारिया की पत्नी के नाम है ,…. बाकी और कुछ खुलासे करने का दावा कर रहे है जिसका जनता को और खुद कटारिया को भी इंतज़ार है क्यूँ कि भाई हार्ट अटैक भी तो आना है .
https://www.youtube.com/watch?v=rhwR4qnr8es

LEAVE A REPLY