Udaipur। मुख्यमंत्री की शपथ लेने के साथ ही राज्य में कांग्रेस सरकार औपचारिक तौर पर गठित हो चुकी है और आने वाले कुछ दिनों में मंत्रिमंडल का गठन भी जाएगा। इस बार 2008 के मुकाबले कांग्रेस के पास अनुभवी विधायकों की कमी नहीं हैं और यही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के लिए सबसे बडी राहत वाली बात है।
मंत्रिमंडल संभवत: अनुभवी और नए विधायकों से मिलाजुला तो होगा ही साथ में आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए क्षेत्रीय व जातीय संतुलन वाला भी होगा। मुख्यमंत्री संभवत: सी.पी.जोशी, बी.डी.कल्ला, जितेन्द्र सिंह, शांति धारीवाल, जितेन्द्र सिंह, अमीन खान, परसादी लाल मीणा, परसराम मोरदिया, महेन्द्रजीत सिंह मालवीय, हेमाराम चौधरी और राजकुमार शर्मा, भंवरलाल मेघवाल, बृजेन्द्र सिंह ओला, दीपेन्द्र सिंह शेखावत जैसे अनुभवी विधायकों को मंत्रिमंडल की पहली खेप में ही शामिल करेंगे।
इसके साथ ही लालचंद कटारिया, गोविंद सिंह डोटासरा, महेश जोशी, रघु शर्मा, प्रमोद जैन भाया, हरीश चौधरी, मंजूदेवी मेघवाल, अमीन कागजी, प्रताप सिंह खाचरियावास, रमेश मीणा, मुरालीलाल मीणा, ममता भूपेश, शकुंतला रावत, विजयपाल मिर्धा और दानिश अबरार को भी मंत्री बनाया जाने की संभावना है। सूत्रों के अनुसार मंत्रिमंडल का फैसला भी आलाकमान की मंजूरी के बाद ही किया जाएगा और संभवत: एक-दो दिन में ही इस संबंध में फैसला हो जाएगा।
कांग्रेस सूत्रों के अनुसार, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अपने नए मंत्रिमंडल का गठन 24 दिसंबर को कर सकते हैं। इसके लिए बाकायदा राजभवन में तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। नए मंत्रियों के शपथ ग्रहण समारोह के लिए एक हजार से ज्यादा लोगों को निमंत्रण देने की तैयारियां की जा रही हैं।

LEAVE A REPLY