उदयपुर। जनाना चिकित्सालय परिसर में सोमवार को एक महिला का जमीन पर ही प्रसव हो गया। देबारी निवासी महिला तारा पत्‍‌नी हीरालाल को ऑटो से हॉस्पिटल लाया जा रहा था। हॉस्पिटल पहुंचने पर दर्द इतना बढ़ गया कि महिला को ऑटो से जैसे ही नीचे उतारा गया तो वहीं डिलेवरी करानी पड़ गई। परिजनों के अनुसार तारा को सुबह करीब 5 बजे से दर्द उठ रहा था, लेकिन उसने किसी को भी इसका जिक्र नहीं किया। पति सुबह मजदूरी करने चला गया था। इसके बाद जब तेज दर्द उठना शुरू हुआ तो तारा की देवरानी उसे ऑटो से हॉस्पिटल लेकर आई। ऑटो से नीचे उतारते ही प्रसूता जमीन पर लेटकर दर्द से कराहने लगी। ऐसे में आसपास बैठी महिलाओं ने दौड़कर प्रसूता के चारों ओर चादर पकड़कर घेरा बनाया। इतने में जनाना हॉस्पिटल का नर्सिंग स्टाफ भी वहां पहुंच गया। जिनकी निगरानी में तारा ने लड़के को जन्म दिया। इसके बाद प्रसूता को वार्ड में शिफ्ट किया गया

स्टाफ ने तुरंत संभाल लिया, जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं : डॉ. माहेश्वरी
चिकित्सालय अधीक्षक डॉ. सुनीता माहेश्वरी ने बताया कि स्टाफ ने तुरंत महिला को संभाल लिया। जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं। माहेश्वरी का कहना है कि कई बार ऐसा होता है जब प्रसूताओं को डिलेवरी का दर्द उठने पर उन्हें तुरंत हॉस्पिटल नहीं लाया जाता। देरी से हॉस्पिटल लाए जाने पर ऐसी घटनाएं होती हैं।

LEAVE A REPLY