Udaipur Post. सत्ता जैसे ही आती है साथ साथ आ जाता है अहंकार और मन मर्जी फिर अपनी इस मन मर्जी से चाहे जनता परेशान होती रहे लेकिन सत्ता के नशे चूर ये नेता शहर , सड़क पुलिस और प्रशासन के साथ साथ जनता को भी अपनी जागीर समझने लग जाते है इनका व्यवहार उस राजा की तरह होता है जिसको अपने आराम में कोई खलल नहीं चाहिए चाहे इसके लिए कोई कितना भी परेशान क्यों ना हो। दरसल कांग्रेस की कद्दावर नेता गिरिजा व्यास और कांग्रेस के शहर जिलाध्यक्ष गोपाल शर्मा ने अपने घर के आगे के रास्ते को ख़ास बना दिया और वहां सड़क के एक छोर पर खम्बे लगा दिए दूसरे छोर पर ट्राफिक बंद कर दिया। राज्य में कांग्रेस का राज है इसलिए इन नेताओं को इनके घर के आगे कुछ तो ऐसा चाहिए जिससे इन्हे अपने वीआईपी होने का अहसास होता रहे। खुद को वीआईपी फील करवाने और दिखाने के लिए इन्होने अपनी गली का रास्ता ही बंद कर दिया अपनी मर्जी के मुताबिक एक तरफ लोहे के खम्बे लगा दिए और इस रास्ते के दूसरे छोर यानी शिक्षा भवन से उतरते वक्त अपनी मर्जी के मुताबिक यातायात को डायवर्ट कर दिया। इस रोड पर अंदर कॉलोनी है रिलायंस मार्ट है अगर आपातकालीन में किसी एम्बुलेंस को आना हो तब जनता को कितनी मुसीबत हो सकती है इसकी इन्हें कोई परवाह नहीं । यह एक सार्वजनिक रोड है जनता के लिए और उसकी सुविधा के लिए लेकिन जनता अब इनकी इस सनक के चलते परेशानी उठाएगी। लेकिन इन्हें जनता की परिशानी से कोई सरोकार नहीं इन्हें तो इनके घर के आगे ज्यादा ट्राफिक नहीं चाहिए, चाहे पूरा शहर ट्राफिक जाम में फंसा रहे। श्री गोपाल शर्मा का कहना है कि उनके घर के आगे ट्रैफिक बहुत रहता है। इतने सालों तक आखिर क्यों नहीं दिखा ट्राफिक। सत्ता में आते ही घर के आगे ट्राफिक दिखने लगा। अब इनके घर के आगे का रोड इन्हें सकरा लगने लगा है और भारी वाहन भी अब ही दिखने लगे है . घर के आगे को छोड़ शहर की समस्याओं पर भी ध्यान देते तो शायद इन्हें इनके घर के आगे की मामूली समस्या कुछ भी नहीं लगती . लेकिन सत्ता में आते ही इन्हें अपने वीआइपी होने का अहसास हो गया . बात तो ये कोलोनी वासियों की कर रहे है लेकिन असल बात कुछ और ही है . इन्हें यह समझना होगा कि ये आम रास्ता है और इस रास्ते को आम ही रहने दें खास ना बनाएं . नगर निगम और प्रशासन को चाहिए की इस रास्ते को पहले की तरह बहाल करे .

LEAVE A REPLY