Gair in Suraj Yatra (1)नुक्कड व आम सभाओं में केन्द्र व राज्य सरकार पर लगाया कुशासन का आरोप

नये राजस्थान के लिए मांगा जन समर्थन

डूंगरपुर, भाजपा की प्रदेशाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे की सुराज संकल्प यात्रा के दो दिवसीय दौरे के तहत दूसरे दिन भी दर्जनों सभाओं में मिल रहे अपार जन समर्थन से उत्साहित होकर राजे ने इस बार जहां आम जन को छह माह तक कठोर मेहनत करने का संदेशा दे दिया । तो वही दूसरी ओर सभाओं में उमड रही महिलाओं की अपार भीड को देखते हुए यह जिम्मा उन्होने महिलाओं पर सौपते हुए कहा कि वर्तमान में जो चुल्हा-चौखट चलाने में जो भारी मुश्किलों का सामना करना पड रहा है उसका जवाब देने के लिए तेयार रहे ताकि नये राजस्थान की परिकल्पना को पूरा किया जा सके। राजे रात्रि विश्राम डूंगरपुर के पश्चात बुधवार प्रात: ११ बजे से डूंगरपुर से रवाना हुई। जिसके तहत राजस्थान सिन्टेक्स मिल के निकट बीएमएस मजदूर युनियन,डीपीएस विद्यालय की बालक बालिकाओं ने स्वागत किया। इसके पश्चात पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष गुरूप्रसाद पटेल के नेतृत्व में शार्दुलसिंह राठौड , युवा मोर्चा के राजेन्द्र गमेती सहित कई कार्यकर्ताओं ने राजे की आगवानी की। संकल्प यात्रा का रथ थाणा, गामडी मोड, माडा, गामडी अहाडा, होता हुआ रामसागडा पहुंचा। जहां विशाल जन भैदनी ने राजे का जयकारों के साथ स्वागत किया। राह में भी राजे ने जगह जगह रथ के स्टेज से ही आम जन को सम्बोधित करते हुए कुशासन के अन्त के लिए निकाली गई सुराज यात्रा को सफल बनाने का आव्हान किया। तथा भरोसा दिलाया कि भाजपा जिन मापदण्डो ंको लेकर क्षेत्रीय विकास को महत्व देती है। उसे पूरा किया जायेगा। राजे का रामसागडा मे आयोजित विशाल जन सभा में नगर परिषद सभापति सुशीला भील, कनबा सरपंच मणी देवी ने चुनडी ओढाकर अभिनंदन किया तो वही दूसरी ओर जनजाति मोर्चा के जिलाध्यक्ष ने पारंम्परिक आदिवासी संस्कृति के अनुरूप तीर कमान भेंट किया। सभा को सम्बोधित करते हुए उन्होने कहा कि पिछले साढे चार सालों में कानून व्यवस्था, भ्रष्टाचार, शिक्षा का बंटाडार हो गया। जिसके कारण इस जनजाति क्षेत्र का विकास भी अवरूद्घ हुआ। उन्होने आरोप लगाया कि कुर्सी पर बैठने के पश्चात उन्होने गरीब के प्रति जवाब देही होकर कार्य नहीं किया। इसी के चलते विकास गरीब क्षेत्रो से कोसो दूर रहा। इस दौरान भाजपा के राज्य स्तरीय वरिष्ठ नेताओं में पूर्व मंत्री सुरेन्द्रसिंह राठौड, रोहिताश्व शर्मा, पूर्व विधायक निहालचंद, धर्मपाल चौधरी, भूपेन्द्र यादव, भाजपा जिलाध्यक्ष गजेन्द्रसिंह चौहान, वरिष्ठ भाजपा नेता शंकरसिंह सोलंकी, प्यारचंद लबाना, चम्पालाल लबाना, नगर सभापति सुशीला भील, बिछीवाडा मण्डल अध्यक्ष माधव वरहात, शंकरलाल खराडी, देवेन्द्र कटारा, महिला मोर्चा अध्यक्ष चन्द्रलेखा कलासुआ, सुदर्शन जैन, महामंत्री प्रभु पण्ड्या, वखेचंद शाह, सहित बडी संख्या में भाजपा नेता उपस्थित थे।

विकलांग के साथ दिखाई हमददी: रामसागडा में विशाल जन सभा को सम्बोधित करने के पश्चात जब राजे मंच से नीचे उतर रही थी तब कडी धूप में इंतजार कर रहे मरता मीणा नामक एक विकलांग आदिवासी युवक ने राजे का अभिवादन किया तो तत्काल वह उसके समीप गई। तथा उसके हालचाल पूछने के पश्चात उसे ११.. रूपया भेंट स्वरूप दिया। जिसे देखकर वह अभिभूत हो गया।

बीच राह में किया भोजन : राजे का कारवां रामसागडा सभा के बाद गैंजी में अभिनंदन से होकर जैसे ही आगे बढा तो वेजा ग्राम पंचायत के लाडसौर फले में सडके के किनारे कारवां रूक गया जहां प्रदेशाध्यक्ष वसुधरा राजे, नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया के अलावा कारवां मेेेें साथ चल रहे वरिष्ठ नेताओं,सुरक्षा कर्मियों व मिडिया कर्मियों ने लंच लिया।

वैजा सरपंच का अनौखा-प्रचार : सुराज संकल्प यात्रा के दौरान ग्राम पंचायत वैजा के सरपंच भंवर कटारा हेड माईक सेट लेकर राजे के आगमन से पूर्व आम जन को आमंत्रित कर रहा था। साथ ही इस दौरान पूर्व विधायक सुशील कटारा के समर्थन में टी-शर्ट पहनकर मोटरसाइकिल पर सैकडों युवा भाजपा के समर्थन में नारे लगाते हुए चल रहे थे।

 

LEAVE A REPLY