8465_48नाथद्वारा। हाइवे पर उपली ओडन के पास बुधवार दोपहर अज्ञात वाहन की टक्कर से घायल दंपती बीस मिनट तक सड़क पर तड़पते रहे। इस दौरान भीड़ तमाशबीन बनकर इधर-उधर फोन लगाती रही, लेकिन कोई भी उन्हें अस्पताल पहुंचाने की जिम्मेदारी उठाने आगे नहीं आया।

 

पुलिस के पहुंचने तक अधेड़ की मौत हो चुकी थी। उसकी पत्नी को गंभीर हालत में स्थानीय अस्पताल से उदयपुर रेफर किया गया है। पुलिस के अनुसार बुधवार दोपहर को बागोल निवासी खूमाणचंद (58) पुत्र घासीराम लोहार पत्नी केसरबाई (50) के साथ उदयपुर से मोटरसाइकिल पर नाथद्वारा आ रहा था। उपली ओडन से आगे नाथद्वारा की तरफ से आते वाहन से मोटरसाइकिल की भिड़ंत हो गई। कुछ ही देर में मौके पर लोगों की भीड़ जमा हो गई।

 

लोगों ने 108 एंबुलेंस को फोन किया, लेकिन एंबुलेंस उपलब्ध नहीं होने की जानकारी मिलने पर पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस आई तब तक हादसे को बीस मिनट हो गए थे, लेकिन इस बीच भीड़ तमाशबीन ही बनी रही, किसी ने उन्हें अस्पताल पहुंचाने की जिम्मेदारी नहीं निभाई।

 

अस्पताल पहुंचाने में देरी के कारण अधेड़ पति की तड़पते हुए मौके पर ही मौत हो गई। बाद में पुलिसकर्मियों ने घायल केसरबाई व मृतक खुमाण चंद को रिक्शे में नगर के अस्पताल पहुंचाया। जहां से केसरबाई को गंभीर हालत में उदयपुर रेफर कर दिया।

LEAVE A REPLY