Headlines :-

खबर 1 – पंचायतीराज चुनाव:तीसरा चरण दाेपहर तक वीरान दिखे बूथसिर्फ 27. 28 प्रतिशत मतदानशाम हाेते-हाेते आंकड़ा 63.68% हुआ

खबर 2 – हुकड़ी फला में चरवाहे की हाथ-पैर बांधकर हत्याजंगल से ग्रामीण झोले में लादकर लाए शवसिर पर चोट के निशान

खबर 3 – एमपीयूएटी में 15 दिसंबर से फाइनल एग्जाम:पेपर 3 की जगह दो घंटे में दो पेजों पर हल करना होगाअपलोड के लिए 10 मिनट मिलेंगे

खबर 4 कलेक्टर ने बुलाई बैठक इसी में तय की जाएंगी नई गाइडलाइन की सख्तियांआज होगा कंटेनमेंट जोन पर फैसलापाबंदियां फिर बढ़ेंगी

…………………………………………………………………………………………………………………………

खबर 1 – पंचायतीराज चुनाव:तीसरा चरण दाेपहर तक वीरान दिखे बूथसिर्फ 27. 28 प्रतिशत मतदानशाम हाेते-हाेते आंकड़ा 63.68% हुआ

Udaipur. छह पंचायत समितियाें में तीसरे चरण के चुनाव संपन्न  हुए। अब चाैथे चरण का मतदान बाकी रहा, जाे भी 5 दिसंबर हाेगा। मंगलवार काे बड़गांव, गिर्वा, मावली, वल्लभनगर, भींडर और कुराबड़ क्षेत्राें में हुए मतदान में सुबह 7.30 से दाेपहर तक वीरानी रही। इसके बाद धीरे-धीरे मतदाता बूथाें पर नजर आने लगे। हालांकि दाेपहर बाद स्पीड पकड़ी और शाम 5 बजे तक 63.68 प्रतिशत से ज्यादा वाेटिंग हाे गई। बता दे कि जिले में पहले चरण में 67.11 प्रतिशत और दूसरे चरण में 60.54 प्रतिशत मतदान हुआ था। तीसरे चरण के चुनाव में मंगलवार काे छह पंचायत समिति क्षेत्राें में 16 जिला परिषद और 122 पंचायत समिति सदस्याें के लिए मतदान हुआ। इसमें बड़गांव, बेदला, शाेभागपुरा, भुवाणा, सापेटिया और अंबेरी सहित शहर के आसपास की पंचायताें में भी दाेपहर तक भी अधिकांश बूथाें पर वीरानी दिखी। इन पंचायताें में पंच-सरपंच के चुनाव में जाे नजारा देखने काे मिला वैसा इस चुनाव मेंं नजर नहीं आया। सुबह दस बजे तक छह पंचायत समिति क्षेत्राें में कुल 13.68 प्रतिशत मतदान हुआ जाे कि दाेपहर 12 बजे तक 27.28 प्रतिशत तक ही पहुंचा। इसके बाद मतदान मेें थाेड़ी तेजी आई और 3 बजे तक कुल मतदान प्रतिशत का आंकड़ा बढ़कर 47.82 और शाम हाेते-हाेते करीब 63.68 प्रतिशत तक पहुंच गया। चुनाव प्रेक्षक अजय चित्तौड़ा ने मतदान केंद्राें का निरीक्षण किया। उप जिला निर्वाचन अधिकारी ओपी बुनकर ने बताया कि तीसरे चरण का चुनाव शांतिपूर्वक हुआ। अब जिले में अंतिम चरण का चुनाव बाकी रहा है। जिला निर्वाचन अनुभाग के प्रभारी माेहन साेनी ने बताया कि लसाड़िया, सलूंबर, झल्लारा, जयसमंद और सेमारी पंचायत समिति क्षेत्राें में 11 जिला परिषद और 81 पंचायत समिति सदस्याें के लिए 5 दिसंबर काे 532 मतदान केंद्राेें पर मतदान हाेगा। मतदान दलाें की रवानगी 4 दिसंबर काे फतह स्कूल और सुखाड़िया विश्वविद्यालय परिसर से हाेगी। चार चरणाें के चुनाव का रिजल्ट 8 दिसंबर काे आएगा।

 

खबर 2 –  हुकड़ी फला में चरवाहे की हाथ-पैर बांधकर हत्याजंगल से ग्रामीण झोले में लादकर लाए शवसिर पर चोट के निशान

Udaipur. पानरवा थाना क्षेत्र के हुकड़ी फला के जंगल में यहीं के चरवाहे दुला (50) पुत्र कन्नाराम ननामा का मंगलवार काे हाथ-पैर बंधा शव मिला। साधन नहीं हाेने से पुलिस और ग्रामीण पैदल ही शव काे झाेले में लादकर 7 किमी दूर स्थित हाॅस्पिटल लाए। प्राथमिक जांच में सिर पर वारकर हत्या की बात सामने आई है। थानाधिकारी नाथू सिंह ने बताया कि मृतक के भाई भमरु ने रिपोर्ट दी की सोमवार को दुला बकरी चराने गया इसके बाद लौटा नहीं। तलाश करने पर दूसरे दिन शव मिला। जंगल में अर्द्धनग्न अवस्था में टाॅवेल से हाथ-पैर बंधा शव मिला। बदमाशाें ने टाॅवेल काे फाड़कर हाथ-पैर साथ बांधे थे। मृतक के सिर पर चाेट के निशान मिले हैं लेकिन ये ज्यादा गंभीर नहीं है। संभावना है कि वारदात के बाद चाेट के कारण वाे वहीं गिर गया और उपचार नहीं मिल पाने से माैत हाे गई। मामले में फिलहाल लूट जैसा काेई पहलू सामने नहीं आया है। आपसी रंजिश की संभावना हाे सकती हैं, इस पर जांच कर रहे हैं। जंगल से ग्रामीणाें की मदद से झाेला में शव काे डालकर हाॅस्पिटल पहुंचे।

 

खबर 3 – एमपीयूएटी में 15 दिसंबर से फाइनल एग्जाम:पेपर 3 की जगह दो घंटे में दो पेजों पर हल करना होगाअपलोड के लिए 10 मिनट मिलेंगे

Udaipur. महाराणा प्रताप कृषि एवं प्राद्याैगिक विश्वविद्यालय (एमपीयूएटी) के सभी संकायों के फाइनल सेमेस्टर की ऑनलाइन परीक्षाएं 15 दिसंबर से शुरू हाेगी। कोरोनाकाल में होने वाली इस पहली परीक्षा में तीन हजार छात्र पेपर देंगे। एक परीक्षा में करीब 200 छात्र ऑनलाइन उपस्थित हाेंगे। छात्रों को अब 3 की बजाय 2 घंटे में ही पेपर हल करना होगा। विवि 516 प्रश्न पत्र तैयार कराएगा। एक प्रश्न पत्र में 8 प्रश्न हाेंगे जिसमें से 5 प्रश्नाें का उत्तर देना हाेगा। छात्रों काे उत्तर भी अधिकतम दाे पेज में ही देना हाेगा। इस बार ऑब्जेक्टिव की जगह ऐसे प्रश्न पूछे जाएंगे जिससे छात्र की इंटेलीजेंसी काे परखा जा सके। काेई भी प्रश्न सीधी तरह से नहीं पूछा जाएगा।

परीक्षा के लिए तैयार कराया सॉफ्टवेयर, फॉर्म भरते ही हो जाएगा रजिस्ट्रेशन और ये रहेगी प्रक्रिया

विवि ने ऑलाइन परीक्षा के लिए तैयार कराया साॅफ्टवेयर।

परीक्षा फॉर्म भरते ही सभी छात्रों का इस सॉफ्टवेयर में रजिस्ट्रेशन हो जाएगा।

परीक्षा देने के लिए छात्र के ऑनलाइन आते ही परीक्षक लाेकेशन जाचेंगे।

शुरुआती प्रक्रिया पूरी होते ही प्रश्न पत्र छात्र के कम्प्यूटर की स्क्रीन पर दिखने लगेगा।

दो घंटे मेें सभी प्रश्नों के उत्तर दो पेजों पर लिखने होंगे।

परीक्षा समय पूर्ण होने के बाद 10 मिनट का समय दिया जाएगा, जिसमें कॉपी के पेजों को स्कैन कर साॅफ्टवेयर में अपलाेड करना हाेगा। अपलोड करते ही एग्जामिनर के पास पहुंच जाएगी कॉपी, जांच भी ऑनलाइन ही होगी छात्र द्वारा उत्तरों की सॉफ्ट कॉपी अपलोड करते ही एग्जामिनर के पास पहुंच जाएगी। जिसे जांचने के लिए अलग-अगल शिक्षकों को भेज दिया जाएगा। काॅपी काे ऑनलाइन ही जांचकर नंबर दिए जाएंगे और उन नंबराें के आधार पर ही मार्कशीट बनेगी। ऑनलाइन परीक्षा में गड़बड़ी को रोकने के लिए एक टीम पूरे समय में नजर बनाए रखेगी। बता दें कि पिछले सत्र में काेराेना के कारण सभी छात्रों को अगले सेमेस्टर में प्रमाेट किया गया था। एमपीयूएटी की मंगलवार काे 56वीं अकादमिक परिषद की बैठक हुई। इसमें 24 दिसंबर को होने वाले ऑनलाइन दीक्षांत समाराेह में 712 उपाधियां और 32 स्वर्ण पदक के लिए छात्रों का चयन किया गया। इसके अलावा बैठक में संकायाें में सीटें बढ़ाने, स्टूडेंट एसाेसिएशन का नामकरण सहित अन्य निर्णय भी लिए गए। दीक्षांत समारोह में कृषि, अभियान्त्रिकी, गृह विज्ञान, डेयरी और फिशरीज संकायो में उत्तीर्ण 589 स्नातक, 80 स्नातकोत्तर और 43 पीएचडी की उपाधियां दी जाएगी। स्नातक 13, स्नातकोत्तर 13 और पीएचडी स्तर पर 3 स्वर्ण पदक के साथ कृषि संकाय में 1 कुलाधिपति, इंजीनियरिंग संकाय में स्नातक और स्नातकोत्तर स्तर पर 1-1 स्वर्ण पदक भी दिए जाएंगे।

 

खबर 4 –  कलेक्टर ने बुलाई बैठक इसी में तय की जाएंगी नई गाइडलाइन की सख्तियांआज होगा कंटेनमेंट जोन पर फैसलापाबंदियां फिर बढ़ेंगी

Udaipur. प्रदेश सरकार की नई गाइडलाइन के तहत शहर के 9 प्रमुख क्षेत्रों सहित बड़गांव ब्लॉक के सबसे ज्यादा काेराेना संक्रमण वाले गली-मोहल्लों में बुधवार से सख्त लॉकडाउन लग सकता है। कंटेनमेंट जोन तय करने और लॉकडाउन लगाने के लिए कलेक्टर चेतन देवड़ा ने बुधवार को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की बैठक बुलाई है। दीपावली बाद से उदयपुर में कोरोना संक्रमण की रफ्तार लगातार बढ़ती जा रही है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के सर्वे में सामने आया है कि गत 17 नवंबर से 1 दिसंबर तक सेक्टर-3, 4 व 5, सेक्टर-14, अंबामाता-मल्लातलाई, सुविवि मार्ग, शोभागपुरा, फतहपुरा, भूपालपुरा, प्रतापनगर और बड़गांव ब्लॉक में सर्वाधिक कोरोना केस मिले हैं। अब इन क्षेत्रों के गली-मुहल्लों को कंटेनमेंट जोन घोषित कर लॉकडाउन लगाने की तैयारी की जा रही है। अगर लॉकडाउन लगा तो लोग बेवजह घरों से बाहर नहीं निकल सकेंगे। दूध, राशन, दवाओं जैसी हरेक आवश्यक सामग्री जिला प्रशासन घर-घर तक पहुंचाएगा। गत 17 नवंबर को कोरोना संक्रमित निकले कलेक्टर देवड़ा अब पूरी तरह स्वस्थ होने पर 16 दिन बाद बुधवार से फिर काम-काज संभालेंगे। अभी तक वे होम आइसोलेशन में रहकर ही काम-काज देख रहे थे। कंटेनमेंट जोन में चिकित्सा, आवश्यक वस्तु और आपात परिस्थिति में ही बाहर निकलने की छूट मिलेगी। आपात परिस्थितियों को छोड़ बाहरी व्यक्ति की एंट्री नहीं हाेगी। संक्रमित के घर के 100 मीटर दायरे तक किसी दुकान या व्यवसायिक गतिविधि की अनुमति नहीं हाेगी।शहर के किसी भी कोरोना प्रभावित एरिया में कंटेनमेंट जोन का पीरियड कम से कम 7 दिन और अधिकतम 14 दिन का होगा। कोरोना पॉजिटिव मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आने और उसकी क्वारेंटाइन अवधि पूरी होने के बाद ही कंटेनमेंट जोन खत्म होगा। शहर की किसी भी कॉलोनी के किसी घर में एक व्यक्ति पॉजिटिव आता है तो उसे भी सख्त हिदायत देकर पाबंद किया जाएगा। मरीज व परिजनों को 14 दिन के क्वारेंटाइन पीरियड को पूरा होने तक बाहर निकलने की अनुमति नहीं हाेगी। संक्रमित के घर के आसपास के लोगों पर भी पाबंदियां लागू होंंगी। कलेक्टर चेतन देवड़ा ने बताया कि कोरोना संक्रमितों की पहचान के लिए उनके घरों के बाहर नोटिस चस्पा करा दिए गए हैं। घरों की निगरानी की जिम्मेदारी पुलिस को सौंपी गई है। कंटेनमेंट जोन बनाने के बाद थाना अधिकारी व बीट अधिकारी पॉजिटिव मरीजों पर लगातार निगरानी रखेंगे। वे रोजाना मरीज के बारे में जानकारी लेकर प्रशासन को सूचना देंगे। मेडिकल टीम संक्रमित के घर पर नोटिस चस्पा करेगी। उदयपुर में मंगलवार को 110 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं। तीन मौतें भी हुई। इनमें सुंदरवास निवासी 85 वर्षीय पुरुष, कैलाश कॉलोनी निवासी 70 वर्षीय महिला और शिव कॉलोनी निवासी 82 वर्षीय महिला शामिल है। कोरोना से अब तक उदयपुर के 162 संक्रमितों की जान जा चुकी है। अब तक उदयपुर में 9704 संक्रमित सामने आ चुके हैं, जिनमें से 8900 रोगी रिकवर हो चुके हैं। रिकवरी रेट 93 प्रतिशत से गिरकर अब 91 पर आ गई है। सीएमएचओ डॉ. दिनेश खराड़ी ने बताया कि उदयपुर में कोरोना के एक्टिव केस 835 हैं, जिनमें से 591 संक्रमित होम आइसोलेशन में हैं। शेष 244 गंभीर संक्रमित विभिन्न कोविड हॉस्पिटलों में भर्ती हैं। आरएनटी मेडिकल कॉलेज में कार्यरत 56 वर्षीय पुरुष चिकित्सक, न्यू विद्यानगर सेक्टर-4 निवासी 47 वर्षीय शिक्षिका, सेक्टर-8 निवासी 44 वर्षीय शिक्षक संक्रमित निकले हैं। उदयपुर में अब तक 1150 से ज्यादा हेल्थवर्कर्स, पुलिस जवान, होम गार्ड, सफाईकर्मी सहित तमाम कोरोना वॉरियर्स कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं।

____________________________________________________________________

Watch Full Video On YouTube – https://youtu.be/bMuLuQs7WPY

Subscribe Our Channel – https://www.youtube.com/channel/UC13eeUsfNS-BfFgLLZzPHJw?view_as=subscriber

Like Our FaceBook Page (Udaipur Post) – https://www.facebook.com/UdaipurPost

                                         (CBC Wire )      –https://www.facebook.com/cbcnewswire

Follow Us On Instagram (Udaipur Post) –https://www.instagram.com/udaipurpost/

                                         (CBC Wire )      – https://www.instagram.com/cbcwire/

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here