उदयपुर। राजस्थान के गृहमंत्री और शहर विधायक गुलाबचंद कटारिया पर बीकानेर के श्री कोलियात जी में हुआ हमला। हमले में उनको व उनके साथियों को गंभीर चोटें आई है एसी पोस्ट के साथ गुलाबचंद कटारिया का एक वीडियो सोशल मिडिया वायरल हो रहा है जिसकी चर्चा शहर ही नहीं पुरे राज्य में है। व्हात्सप के हर एक ग्रुप में यह वीडियो वायरल किया जा रहा है।
पांच मिनट का यह वीडियो दरसल 16 साल पुराना है जिसको अब कटारिया की साख गिराने की नियत से वायरल किया जारहा है। इस वीडियों को देख कर जहाँ एक तरफ कटारिया विरोधी जम कर मजे ले रहे है वही कटारिया समर्थक चिंतित दिखाई दे रहे है लेकिन इस वीडियो को वायरल करने की मंशा चाहे किसी की साख गिराने की हो लेकिन वीडियो के वायरल होने से गृहमंत्री का कद बढ़ता हुआ सा लग रहा है।
पांच मिनट का यह वीडियो  बीकानेर के श्री कोलियात जी के एक प्राथमिक स्वास्थ केंद्र का है जहाँ कटारिया और उनके समर्थकों को लोग जम कर पीट रहे है। बाद में गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया को एक अस्पताल में बैठे हुए भी दिखाया है जहाँ वे पुलिस से बात चित कर रहे है।
जानकारी के अनुसार  राजस्थान के बीकानेर जिले का श्री कोलियात जी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में जहां पर आज से 16 साल पूर्व गुलाबचंद कटारिया और उनके साथियों पर हमला हुआ था। दरअसल उस समय प्रदेष में अषोक गहलोत की सरकार थी और गुलाब जी नेता प्रतिपक्ष की भुमिका में थे। उन दिनों भाजपा के देवी सिंह भाटी भाजपा से खफा हो गए थे और सामाजिक न्याय मंच के नाम से अपनी पार्टी बना ली थी। तभी कोलियात जी में मौसमी बिमारियों का ऐसा प्रकोप छाया कि मलेरिया से काफी लोगों की मौत हो गई थी। ऐसे में विपक्षी पार्टी भारतीय जनता पार्टी ने तय किया कि गांव का दौरा करने के लिए नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया और पार्टी के पदाधिकारी जाएंगे। सूत्र बताते है कि सामाजिक न्याय मंच के प्रमुख देवी सिंह भाटी को यह बात नगवार गुजरी और उनके समर्थकों ने गुलाबचंद कटारिया और उनके साथ गए लोगों पर हमला कर दिया था जिसमें वह काफी चोटिल हो गए थे। वैसे कुछ जानकार तो यह भी बताते है कि कटारिया की पिटाई से आहत उनके समर्थकों ने एक दिन के लिए उदयपुर बंद भी रखा था। सोलह साल बाद यह विडियो अचानक किसी के हाथ लग गया और उसने सोषल मीडिया पर इसे वायरल कर दिया। यह बात और है कि उस समय कटारिया जी को उतनी सहानुभूति नहीं मिली थी, जितनी इन दो दिनों में मिली है। तथाकथित लोगों ने वर्तमान हमले की बात कहते हुए अफवाह फैलाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। वैसे इस वीडियो के वायरल होने के बाद कयास तो यह भी लगाए जा रहे है कि आने वाले चुनाव में कटारिया के प्रति लोगों का समर्थन बड़ेगा। क्योंकि भारतीय जनता पार्टी और एक गांव की जनता की कुषलक्षेम लेने पंहुचे थे उसी समय यह हमला हुआ था इसमे कटारिया जी का समर्पण भाव साफ – साफ जाहिर होता है
विडियो में देखिये क्या हुआ था 16 साल पहले
https://www.youtube.com/watch?v=Vz4obHjZcfQ&feature=youtu.be

LEAVE A REPLY