पार्टी का मानना है, टिकट की दौड़ में शामिल होने से पदाधिकारी नहीं दे पाते अपनी जिम्मेदारी पर ध्यान संगठन में काम करने वाले नेताओं को पार्टी आलाकमान ने दिया संदेश। संगठन पदाधिकारियों से टिकट मांगने का हक छीना, किसी को टिकट देना भी होगा तो प्रदेश नेतृत्व करेगा तय।
जयपुर. भाजपा ने तय किया है कि संगठन में काम करने वालों को आगामी विधानसभा चुनावों में टिकट नहीं दिया जाएगा। संगठन में काम करने वालों को सरकार बनने के बाद ही कोई नई जिम्मेदारी मिलेगी। सूत्रों के मुताबिक राष्ट्रीय संगठन महामंत्री रामलाल ने इस सम्बन्ध में पिछले दिनों हुई कार्यसमिति की बैठक में संगठन प्रभारियों और जिलाध्यक्षों के सामने यह बात कही है। भाजपा नेताओं का मानना है कि संगठन में काम करते हुए चुनाव लडऩे की इच्छा के चलते संगठन प्रभारी, जिलाध्यक्ष, प्रदेश पदाधिकारी संगठन के काम में ज्यादा ध्यान नहीं दे पाते। एेसे में रामलाल ने कहा है कि पदाधिकारी संगठन के कामकाज पर ध्यान दें। टिकट देना है या नहीं, यह प्रदेश नेतृत्व पर छोड़ दें। रामलाल ने यह भी कहा है कि किसी को टिकट देने की बात आती है तो उसे संगठन की जिम्मेदारी से तत्काल मुक्त कर दिया जाएगा, लेकिन टिकट देना है या नहीं यह फैसला पार्टी नेतृत्व ही करेगा। संगठन के नेताओं को आगे बढ़कर टिकट मांगने की तरफ ध्यान नहीं देना है। यदि एेसा होता है तो करीब १५० भाजपा नेता इससे सीधे प्रभावित होंगे। इनमें संगठन प्रभारी, जिलाध्यक्ष, प्रदेश पदाधिकारी, मोर्चों की टीम शामिल है।
वर्तमान टीम में शामिल हैं कई जनप्रतिनिधि भाजपा की वर्तमान प्रदेश टीम में कई जनप्रतिनिधि शामिल हैं। प्रदेश महामंत्री अभिषेक मटोरिया वर्तमान में विधायक हैं। प्रदेश उपाध्यक्ष रामनारायण डूडी, ओम बिड़ला, निहालचंद सांसद हैं, जबकि अलका गुर्जर विधायक हैं। प्रदेश मंत्री दीया कुमारी सवाईमाधोपुर से विधायक हैं। किसान मोर्चा के अध्यक्ष कैलाश चौधरी भी विधायक हैं। माना जा रहा है कि इनमें से ज्यादातर को प्रदेश की नई टीम से बाहर किया जाएगा ताकि वे अपने निर्वाचन क्षेत्र में जाकर चुनाव की तैयारी कर सकें। पार्टी एकाध जनप्रतिनिधियों को ही नई टीम में रखना चाहती है।
भाजपा ने बुलाई प्रदेश टीम की बैठक
सूत्रों के मुताबिक मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की यात्रा के सम्बन्ध में भाजपा ने प्रदेश टीम की बैठक बुलाई है। यह २५ जुलाई को प्रदेश भाजपा कार्यालय में होगी। इसमें विधानसभा वार यात्रा प्रमुख और जिले वार यात्रा प्रमुखों को भी बुलाया गया है। इसके अलावा इस टीम में प्रदेश पदाधिकारी भी शामिल होंगे। इस बैठक में २५० से ज्यादा भाजपा नेता शामिल हो सकते हैं।

LEAVE A REPLY