उदयपुर पोस्ट। उदयपुर संभाग का बांसवाडा जिला पिछले काफी समय से दिनदहाड़े होने वाली हत्याओं और खुनी खेल का जिला बन चुका है। पुलिस का खौफ तो मानो अपराधियों में है ही नहीं। और इसी बेखोफ तरीके से दिन दहाड़े भीड़ भाड़ वाले इलाके में अपराधियों ने ऐसे जधन्य हत्याकांड को अंजाम दिया कि देखने वाले सिहर उठे। आपसी रंजिश के चलते पिता और उसके दो बेटों पर हमलावरों ने चाक़ू तलवार और सरिये से हमला किया। हमले में पिता और एक पुत्र की मोके पर ही मौत हो गयी जब कि एक बेटे को गंभीर स्थिति में उदयपुर रेफर किया गया है।
इस जधन्य हत्याकांड से सिर्फ बाँसवाड़ा जिले में ही नहीं पुरे संभाग में सनसनी फेल गयी है। हत्याकांड के फोटो व्हाट्स अप पर तेजी से वायरल हो गए हालाँकि पुलिस ने एहतियात के टूर पर बांसवाडा में दो दिन के लिए नेट बंद कर दिया है और धरा 144 लगा दी गयी है।
पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार इंद्रा कॉलोनी निवासी 65 वर्षीय सब्बीर पुत्र सिकंदर उनके दो बेटों शरीफ और साहिद के साथ महात्मा गांधी अस्पताल गए थे। जहां आरोपियों के द्वारा चाकू और लोहे के सरिये से अचानक हमला कर दिया। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि तीनों अस्पताल परिसर में गायनिक ओपीडी के बाहर खड़े थे। अचानक एक सफेद रंग की कार में आरजे । 27-1-सी-2622 में सवार होकर हमलावर पन्नालाल पिता हीरा सरगड़ा, पन्नालाल के भाई डूंगर एवं नरेश, महेश, नरेंद्र सहित अन्य दो लोग वाहन से उतरे और वहां खड़े शब्बीर एवं उनके दो बेटों पर धारदार हथियार एवं सलियों से हमला कर दिया। जिनमें शब्बीर और एक बेटे की मोके पर ही मौत हो गई। और दूसरे बेटे को गंभीर हालत में उदयपुर रैफर कर दिया  जहाँ शाम तक उसने भी दम तोड़ दिया ।
अस्पताल परिसर के जिस स्थान पर हमलावरों ने घटना को अंजाम दिया गायनिक ओपीडी के सामने उक्त स्थान पर 24 घंटे लोगों की आवाजाही बनी रहती है। और एमसीएच विंग के करीब होने के कारण हमेशा लोग भी अच्छी खासी तादाद में उपस्थित रहते हैं।

शब्बीर मोहम्मद पिता सिकंदर अली उम्र 65 वर्ष हाल निवासी बांसवाड़ा मूल निवासी उत्तर प्रदेश आगरा, एवं पन्नालाल सरगङ्ग व डूंगर सरगड़ा, इन दोनों परिवार के बीच लगभग दो हजार स्क्वायर फीट जमीन का विवाद पिछले 10 सालों से थानों और न्यायालयों में विचाराधीन है। इसी जमीनी विवाद को लेकर दिनांक 31.8.2018 यानी शुक्रवार कल रात 8 बजे के लगभग शब्बीर और पन्नालाल के बीच हाथापाई हुई थी। इस हाथापाई में पन्नालाल और शब्बीर दोनों को ही हल्की चोटे आने पर दोनों महात्मा गांधी चिकित्सालय में आज सुबह इलाज हेतु गए हुए थे जहाँ पहले से घात लगाये बैठे हमलावरों ने उन्हें मौत के घात उतार दिया। 

मर्डर का लाइव वीडियो कैमरे में कैद – हत्या से लेकर भागने तक के पूरे सबुत पुलिस को मिलेंगे –

आज सुबह एक छोटी सी जमीन को लेकर दो परिवारों के बीच चल रही रंजिश के चलते की गई नृशंस हत्या महात्मा गांधी चिकित्सालय के गायनिक वार्ड के बाहर की है । महात्मा वाधी चिकित्सालय प्रशासन द्वारा लगाए गए सीसीटीवी कैमरे में एक कैमरा ऐसी जगह लगा हुआ है, जहां से पूरी वारदात लाइव कैमरे में कैद होगया  हत्यारे हत्या कर महात्मा गांधी चिकित्सालय के पीछे के रास्ते से भागे हैं। वहां पर भी  होस्पीटल के कैमरे लगे हुए हैं। जहां से हत्यारों के भागने की भी पुष्टी होती है । जिस जमीन को लेकर विवाद है। वह जमीन इंदिरा कॉलोनी में है। जिसे दोनों  अपना मालिकाना हक जताकर वर्षों से आपस में लड़ाई लड़ रहे है। दोनों पक्षों को इस विवाद में कई बार पुलिस ने पाबंद कर जेल भी भेजा है। परंतु आज इस छोटी सी जमीन ने तीन लोगों की जान ले ली। इन हत्याओं को लेकर कादिर अहमद का मामला दर्ज कराया है।

LEAVE A REPLY