उदयपुर। नैतिक मूल्यों और महिला सुरक्षा और सम्मान की अलख जगाने वाली संस्थान के सर्कुलेशन मैनेजर ही अपनी सर्वेयर पर बुरी नज़र रखने और अकेले में जबरदस्ती अपने घर पर ले जाने का आरोप एक युवती ने लगाया है।
देश के सबसे बढ़ते हिंदी दैनिक अखबार दैनिक भास्कर के उदयपुर संस्करण के सर्कुलेशन मैनेजर दीपेंद्र त्रिवेदी पर भास्कर में ही सर्वेयर का काम करने वाली एक युवती ने गलत नियत रखने और छेड़छाड़ का आरोप लगाया है। युवती ने अपने साथ हुई जबरदस्ती की रिपोर्ट अम्बामाता थाने में दर्ज करवाई है।अम्बामाता थाने में युवती की रिपोर्ट के आधार पर दीपेंद्र त्रिवेदी पर 354 , 506 व् एस सी एसटी एक्ट में मामला दर्ज़ किया है।
पिछले दो माह से दैनिक भास्कर में सर्वेयर का कार्य करने वाली एक युवती ने बताया कि सर्वेयर के कार्य में कोई समय सीमा नहीं थी इस वजह से वह भास्कर की नौकरी छोड़ने का मन बना चुकी थी। इसके लिए उसने सर्कुलेशन मैनेजर दीपेंद्र त्रिवेदी को सूचित किया। दीपेंद्र ने रविवार को युवती को सहेलियों की बाड़ी स्थित दैनिक भास्कर के ऑफिस बुलाया जब युवती ऑफिस पहुंची तो मैनेजर दीपेंद्र स्कूटी लेकर ऑफिस पंहुचा और युवती को ऑफिस के निचे आने को कहा। युवती ने कहा की आप ऊपर आजाओ यहीं बात कर लेते है। मैनेजर दीपेंद्र ने कहा कि मेने घर के कैज्युअल कपडे पहन रखे है तुम निचे आजाओ यहीं बात करलेंगे । जब युवती निचे आयी तो मैनेजर उसको अपने घर ले जाने की जिद करने लगा। मैनेजर का कहना था की घर पर चलो वहीँ पर बैठ कर बात करेगें घर पर मेरी पत्नी भी है। युवती ने उसके घर जाने से मना किया लेकिन मैनेजर दीपेंद्र ने जबरदस्ती उसका हाथ पकड़ा और स्कूटी पर बैठा दिया। युवती भाग ना जाए इसके लिए वह जिद करने लगा की तुम आगे बैठो में पीछे बैठ कर स्कूटी चलाऊगां। जब युवती ने मना किया और अपने साथ हो रही जबरदस्ती का विरोध किया तब भी जबरदस्ती दीपेंद्र युवती को स्कूटी पर बैठा कर वोडा फोन के ऑफिस के पास अपने घर ले गया। युवती ने उतरते ही घर के अन्दर जाने से मना कर दिया और बाहर दरवाजे को पकड़ लिया। दीपेंद्र उसको अंदर लेजाने की जिद करता रहा कि अंदर चलो मेरी पत्नी है अंदर। लेकिन युवती ने बताया की घर के बाहर ताला लगा हुआ था और मैनेजर झूठ बोल रहा था। युवती मैनेजर की नियत भांप गयी और अपना हाथ छूटा कर वहां से भाग आयी और तुरंत अपने पति को कॉल किया। उसके बाद वह वहां से चली गयी।
प्रार्थी युवती ने बताया कि जब सारी बात पति और घर में भाई वगेराह को बताई तो उन्होंने पुलिस में एफआईआर दर्ज करने की सलाह दी। इधर जब मैनेजर दीपेंद्र त्रिवेदी को अपने खिलाफ मामला दर्ज होने की सूचना मिली तो वह अपनी पत्नी के साथ आया। युवती और उसके भाई ने बताया कि पहले तो उन्होंने भास्कर अखबार की धौंस दी। फिर बाद में उसकी पत्नी भी झूठ बोलती रही कि वह उस वक़्त घर पर ही थी। जब युवती नहीं मानी तो दीपेंद्र अपनी गलती पर हाथ जोड़ कर पेअर पकड़ कर माफ़ी मांगने पर भी तैयार हो गया।
पीड़िता ने बताया की वह पहले भी गलत नियत से अपने घर पर ले जाने की जिद कर चुका है। वह हमेशा कहता है की मेरी पत्नी घर पर है तुमसे मिलना चाहती है। जबकि दीपेंद्र की पत्नी का कही जॉब है और दिन में वह वहां पर जाती है।
युवती और उसके परिजनों ने अम्बामाता थाने में मामला दर्ज़ करवा दिया है पुलिस मामले की जाँच कर रही है। युवती ने बताया है की भास्कर ऑफिस की पार्किंग में सी सी कैमरे लगे हुए है उसमे साड़ी घटना कैद है घटना की सत्यता की पुष्टि उससे हो जायेगी। पुलिस मामले की जाँच कर रही है।

LEAVE A REPLY