Udaipur. इन दिनों उदयपुर में भुमाफियाओं का बोलबाला है। अपने बाहूबल और चंद रूपयों के दम पर यह लोग भोले – भाले जमीन मालिकों को फंसाते है और मौका मिलते ही सारी संपत्ति धोखे से अपने नाम कर देते हैं। ऐसा ही एक उदाहरण देखने को मिला है शहर के प्रतापनगर थाना क्षेत्र में । जहां देबारी गांव मे एक गरीब आदिवासी की जमीन भूमाफियाओं द्वारा हड़पने का मामला सामने आया है। दलालों ने बैक डायरी में 15 लाख रूपयों की फर्जी एंट्री कर केंसर पीड़ित वृद्ध की पुश्तैनी जमीन की पावर आॅफ अटोर्नी तैयार करवा ली। मामला उजागर होने के बाद पुलिस मामले की जांच मे जुट गई है। आपको बता दे कि देबारी के सकदर फला गांव मे रहने वाले गणेश गमेती की पुश्तैनी जमीन को भूमि दलालो ने षडयंत्रपूर्वक हड़पने का काम किया है। केंसर पीडित वृद्ध मुखिया का इलाज करवाने के लिए परिवार ने साढे छह बिस्वा जमीन 15 लाख मे बेचनी तय की थी। लेकिन दलालो ने उसकी पौन बिघा जमीन की पावर आॅफ अटोर्नी बनावा दी। यहीं नहीं रजिस्ट्री से पहले उसके खाते में 15 लाख रूपए डालने की फर्जी एंट्री करके विश्वास दिलाया कि पैसे खाते मे डाल दिए है। उसके बाद भूमि दलाल राजेश गमेती, देवीलाल, शंकर, रोशनलाल, दलाराम ने एक ओर खाता खुलवाकर उसमे साढे तीन लाख रूपए डालकर एटीएम के जरिए पैसे भी निकाल लिए। वृद्ध और उसके परिवार को एक रूपया तक नही दिया गया। परिजनों को जब इस बात का पता चला तो वृद्ध ने रजिस्ट्रार कार्यालय जाकर पावर केंसिल करवाने के साथ जाली दस्तावेज खारिज करवाने और दोषियो के खिलाफ कार्रवाई करने की रिपोर्ट प्रतापनगर थाने को दी है। यह परिवार अपने साथ हुई धोखाधड़ी से सदमे में है।

LEAVE A REPLY