उदयपुर। आचार संहिता प्रभावी हो जाने के बाद भी शहर में कुछ स्थानों पर अभी भी मुख्यमंत्री के फोटो वाले सरकारी योजना का प्रचार करते बैनर आदि लगे हुए हैं। आचार संहिता लगने के बाद यूआईटी ने शहरभर में राजनीतिक या सरकारी योजनाओं में राजनीतिक लोगों के फोटो लगे पोस्टर, बैनर हटाए थे। इसके बाद भी कुछ स्थानों पर यह लगे हुए हैं। कुम्हारों का भट्टा स्थित कृषि विभाग के कार्यालय के बाहर अभी तक मुख्यमंत्री वसुंधरा के चित्र वाला बैनर लगा हुआ है।
अपनी मांगों को लेकर रोडवेजकर्मियों ने कई दिनों तक आंदोलन किया था। उनकी मांगे मुख्यमंत्री ने नहीं मानी लेकिन रोडवेज की बसें अभी भी मुख्यमंत्री का प्रचार कर रही हैं। आचार संहिता प्रभावी हो जाने के बाद भी रोडवेज की बसों पर मुख्यमंत्री के प्रचार वाले स्टीकर, पोस्टर व बैनर लगे हुए हैं। यही नहीं वसुंधरा सरकार द्वारा भामाशाह स्कीम में जिन महिलाओं को जियो फोन दिए थे उस पर वसुंधरा राजे का वाल पेपर लगा हुआ है इसके लिए उदयपुर राजस्थान प्रदेश कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के संभागीय महासचिव मोहम्मद छोटू कुरैशी ने भी वसुंधरा सरकार द्वारा फ्री में रेवड़ियों की तरह बांटे गए जियो मोबाइल के वॉलपेपर पर दमक रहे वसुंधरा राजे के फोटो को हटवाने की मांग की है।

LEAVE A REPLY