अलवर के रामगढ़ विधायक ज्ञानदेव आहूजा एक बार फिर विवादों में फस गए हैं इस बार उन्होंने अलवर की गोविंदगढ़ राजकीय कॉलेज के प्रधानाचार्य को रिटायरमेन्ट से पहले सस्पेंड कराने व पेंशन सीज कराने की धमकी दी है। धमकी देने वाला उनका वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है।
अलवर के गोविंदगढ़ राजकीय कॉलेज में छह करोड़ रुपए की लागत से एक भवन का निर्माण हुआ है। इसमें क्लास रूम व शौचालय सहित अन्य सुविधाएं है। इस भवन का उद्घाटन करने के लिए रामगढ़ विधायक ज्ञानदेव आहूजा कॉलेज में पहुंचे। वहां मौजूद छात्र संघ के पदाधिकारी व छात्रों ने उनको उद्घाटन नहीं करने दिया व उनका विरोध किया।
छात्र का कहना था कि लंबे समय से वो प्रदर्शन कर रहे हैं। कॉलेज में कोई सुविधा नहीं है। केवल दो प्राचार्य हैं व कुछ सहायक कर्मचारी हैं। ऐसे में स्टूडेंट की पढ़ाई प्रभावित होती है। ऐसे में स्टूडेंटों के भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है।
स्टूडेंटों ने कहा कि इस संबंध में कई बार एसडीएम को विज्ञापन भी दे चुका है। लेकिन विधायक या किसी भी प्रशासनिक अधिकारी ने उनकी सुनवाई नहीं की। विधायक उस समय कहा थे जब स्टूडेंट प्रदर्शन कर रहे थे। विधायक ने पहले जब स्टूडेंटों का साथ नहीं दिया। तो आज भवन का उद्घाटन करने क्यों आए हैं। इस पर ज्ञानदेव आहूजा गुस्सा हो गए व कॉलेज के प्रधानाचार्य के पास पहुंचे। विधायक ने इस सब के पीछे प्रधानाचार्य को ज़िम्मेदार ठहराया। उन्होंने प्रधानाचार्य उनको सस्पेंड कराने का की बात कही।
विधायक ने कहा कि तुमको छात्रों को समझाना चाहिए। अगर कॉलेज में कोई कमी है। तो उसकी सूचना पहले हमें देते। उनको पूरी करने की जिम्मेदारी हमारी है।
उन्होंने प्रधानाचार्य से कहा कि तुम्हारे रिटायरमेंट में कितना समय है। रिटायरमेंट से पहले तुम सस्पेंड होगे ओर तुम्हारी पेंशन चीज़ होगी। विधायक के साथ बड़ी संख्या में उनके समर्थक भी कॉलेज में मौजूद थे। उन्होंने भी कॉलेज के प्रधानाचार्य को खरी खोटी सुनाई। वही इस संबंध में कॉलेज के प्रधानाचार्य का कहना है कि कॉलेज भवन का काम अभी पूरा नहीं हुआ है। भवन कॉलेज प्रशासन को हैंडओवर भी नहीं हुआ है। ऐसे में भवन के उद्घाटन की कोई जरूरत नहीं है। ठेकेदार अपने स्तर पर भवन का उद्घाटन करवा रहे हैं। कॉलेज में किसी भी तरह की कोई सुविधा नहीं है। छात्रों की पढ़ाई सहित सभी कामकाज प्रभावित हो रहे हैं।

LEAVE A REPLY