Udaipur Post .सवीना सब्जी मंडी के बाहर आज १० वर्षीय बच्चे की ट्रोले के निचे आजाने से मौत हो गयी।  मोके पर मोजूद प्रत्यक्ष दर्शियों के अनुसार पुलिस चेकिंग में चालान से बचने के लिए बैक सवार के पीछे बैठा बच्चा ट्रोले के निचे आगया जब कि हिरणमगरी थाना के जांच अधिकारी का कहना है कि एसी कोई बात नहीं यह एक एक्सीडेंट है।  वहां पर कोई ट्राफिक पुलिस मोजूद नहीं थी।

जानकारी के अनुसार आज सुबह  करीब 11 बजे भिलुराना कच्ची बस्ती निवासी 10 वर्षीय राजवीर मीना अपने पिटा और बड़े भाई के साथ सविना कृषि मंडी से सब्जी लेकर जा रहा था।  जैसा की प्रत्यक्ष दर्शियों ने बताया उसके अनुसार मंडी के बाहर निकलते ही चेकिं के लिए खड़े पुलिस कर्मी उनकी बाइक की तरफ लपके। बाइक मृतक राजवीर का बड़ा भाई चला रहा था।  वो चालान से बचने के लिए बाइक को रोक कर मुड़ाने लगाऔर बाइक सवार भाई ने गाड़ी आनन् फानन में गद्दे  में उतार दी और छोटा भाई अलग जा गिरा और ट्रोले के पहिये की चपेट में आगया।  मोके पर ही उसकी मौत हो गयी। मोके पर खड़े घटना के गवाह लोगों ने यही बताया कि  सवीना सब्जी मंडी के बाहर पुलिस वाहनों की चेकिंग कर रही थी उस दौरान उधर से शायद सब्जी लेने आये दुपहिया  वाहन धारी दो  भाई भी गुज़र रहे थे ,उनको आता देख पुलिस का जवान उनकी और लपका तो डर के मारे उस बाइ सवार  ने स्पीड बढ़ाई  और गाड़ी एक गद्दे में उतर गयी उसी दौरान पीछे से आती हुयी ट्रक के टायर के निचे बाइक पर बैठा हुआ छोटा भाई  कुचल गया जिसकी मोके पर ही दर्दनाक मौत हो गयी। हम आपको फोटो दिखा रहे है स्क्रीन पर परन्तु ये आपको विचलित कर सकता है इसलिए ब्लर्र करते हुए दिखा रहे है परन्तु उस बच्चे के हाथ में सब्ज़ी थैली अभी भी पकड़ी हुई थी। इधर मोके पर पहुची हिरन मगरी थाना पुलिस ने ट्रोले को जब्त कर मामला दर्ज किया और मृतक का शव मोर्चरी में रखवाया है। इस मामले की जांच कर रहे जांच अधिकारी लाल सिंह ने सीबीसी को बताया कि ये सिर्फ एक एक्सीडेंट है मोके पर कोई जांच नहीं हो रही थी कोई जांच करने वाले पुलिस कर्मी नहीं थे।  हालाँकि उन्होंने ये जरूर स्वीकारा की वहां पर रूटीन जांच हो है लेकिन आज नहीं हो रही थी। खेर चाहे जो हो लेकिन एक मासूम जान तो चली गयी अगर प्रत्यक्ष दर्शियों की माने तो क्या कसूर था उस बच्चे का उआ उसके भाई का बाप का  ?सिर्फ यही की शायद इन्होने हेलमेट नहीं लगाई ,या शायद लाइसेंस  इतना ही न लेकिन साहब जान तो आपने वैसे भी ले ली। क्या बचाव कर लिया आपने ?कौन ज़िम्मेदार है इस मौत का ?शायद ये जो सड़क किनारे वसूली का खेल चलता है न   चेकिंग की आड़ मेंवही इस बच्चे की मौत का असली  कारण भी है और इसका ज़िम्मेदार है पूरा का पूरा पुलिस प्रशाशन। देखते रहिये जाने और कितनी जाने जाएँगी।बंद कीजिये ये  खुनी खेल अब। क्या  हम बस चुपचाप ये सब देखते रहेंगेलेकिन ध्यान रहे आज ये बच्चा है कल को क्या पता हमारा कोई अपना ही हो इस जगह।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here