सात दिन चली मौताणे की वार्ता, हादसे में हुई थी मौत, दो राज्यों की पुलिस ने की समझाइश
उदयपुर। राजस्थान-गुजरात बार्डर पर सात दिन चली मौताणे की वार्ता कल शाम गुड़ की रस्म के साथ खत्म हो गई। सात दिन पूर्व सड़क हादसे में हुई एक व्यक्ति की मौत के बाद दोनों पक्ष मौताणे को लेकर अड़े हुए थे। पुलिस ने आज सुबह पास्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है।
गौरतलब है कि सड़ा कोटड़ा निवासी पोपट (35) पुत्र नाना पारगी उसके रिश्तेदार हूजा (50) पुत्र थावरा पारगी के साथ गुजरात के टोड़ावेरी गांव में स्थित ससुराल गया था। जहां से २१ जून को वह पैदल ही लौट रहा था। उसी दौरान एक बाइक ने उसे टक्कर मार दी। इससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे एमबी हॉस्पीटल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी मौत हो गई। पोपट के परिजन यहां मुर्दाघर में शव रखकर घटनास्थल पर पहुंच गए, जहां उन्होंने मौताणे की मांग रखी। हादसा गुजरात के टोड़ावेरी गांव में होने के कारण गुजरात व राजस्थान की पुलिस मौके पर पहुंच गई। मौत के छह दिन तक जाति पंचायत व पीडि़त परिवार के मौताणे की वार्ता चलती रही। मौताणा तय होने पर दोनों पक्ष राजी हुए। गुड़ की रस्म होने पर पीडि़त पक्ष पोस्टमार्टम के लिए राजी हुआ। गुजरात के खेरोज गांव की पुलिस शुक्रवार शाम को परिजनों के साथ उदयपुर पहुंची। यहां पोस्टमार्टम करवाया और शव परिजनों को सौंप दिया। पुलिस ने परिजनों की रिपोर्ट पर बाइक चालक के खिलाफ मामला दर्जकर जांच शुरू कर दी।
नकबजनी का आरोपी गिरफ्तार
उदयपुर। हिरणमगरी क्षेत्र के सवीना स्थित हाउसिंग बोर्ड कॉलानी में सूने मकान में हुई चोरी के मामले में पुलिस ने शुक्रवार को एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उसकी निशानदेही से दो बाइक बरामद की है।
पुलिस के अनुसार सवीना स्थित हाउसिंग बोर्ड कॉलानी निवासी दिग्पाल सिंह पुत्र मोतीसिंह चारण ने रिपोर्ट में बताया कि गत १५ मई को वह परिवार के साथ रिश्तेदारी में गया था। इसी दौरान उसके मकान से नल की टूटियां और घरेलू सामान चोरी हो गया। पुलिस ने इस चोरी में विजयसिंह पथिकनगर सवीना निवासी रिंकू उर्फ पिंकू उर्फ बांठिया पुत्र मोहनलाल मीणा को गिरफ्तार किया, जिसने दो बाइक भी चोरी करना कबूला।

LEAVE A REPLY